Hanuman Jayanti 2023: जबलपुर में बजरंगबली को लगाया गया 1 टन वजनी महालड्डू का भोग, 12 कारीगरों ने किया तैयार

Hanuman Jayanti 2023 : देशभर में आज हनुमान जयंती के अवसर पर बड़े ही धूमधाम देखने को मिल रही है। चारों ओर भगवान के भक्त इनकी भक्ती में खोए हुए नजर आ रहे हैं। सुबह से ही मंदिरों में श्रद्धालुओं की भीड़ देखने को मिल रही है। भगवान की विषेश पूजा-अर्चना के साथ ही प्रसाद वितरण भी किया जा रहा है। साथ ही, जगह-जगह भंडारे का भी आयोजन किया गया है। इसी कड़ी में जबलपुर का भोग भी इस समय चर्चा का विषय बना हुआ है।

Hanuman Jayanti 2023: जबलपुर में बजरंगबली को लगाया गया 1 टन वजनी महालड्डू का भोग, 12 कारीगरों ने किया तैयार

दो सालों से लगा रहे विशालकय भोग

दरअसल, जबलपुर में स्थित पचमठा हनुमान मंदिर एक प्रसिद्ध मंदिर है, जहां हनुमान जी की पूजा की जाती है। इस मंदिर में बजरंगबली के लड्डू का भोग पिछले दो सालों से लगाया जा रहा है। यह एक परंपरागत रूप से होता है जिससे लोगों का विश्वास मजबूत होता है। वहीं, इस बार भक्तों ने 1 टन से भी अधिक वजनी लड्डू का महाभोग लगाया। जिसे देखने के लिए दूर-दूर से लोग संस्कारधानी आ रहे है। बता दें कि गलौआ चौक के पास स्थित पचमठा हनुमान मंदिर में पिछले दो सालों से हनुमान भक्त बजरंगबली को इतने बड़े आकार के लड्डू का भोग लगा रहे है।

लड्डू बनाने में लगा 15 दिन का समय

वहीं, इस साल लड्डू को बनाने के लिए करीब 12 कारीगरों का सहयोग लिया गया, जिसे कुल 15 दिनों में बनाकर तैयार किया गया है। बूंदी से बने इतने विशाल महालड्डू को बनाने के लिए नागपुर से विशेष कारीगरों को बुलाया गया था। नागपुर से ही एक विशेष प्रकार के सांचे को मंगाकर 1 टन वजनी महालड्डू का निर्माण कराया गया है। साथ ही, इसको बनाने के लिए 350 किलो चने की दाल, 500 किलो शक़्कर, 15 किलो ड्राई फ्रूट, 35 तीन तेल, शुद्ध घी और तक़रीबन 30 गैस सिलेंडरों का इस्तेमाल किया गया। बता दें कि साल 2022 से शुरू हुआ महालड्डू बनाने का सिलसिला आगे भी जारी रहेगा।

Hanuman Jayanti 2023: जबलपुर में बजरंगबली को लगाया गया 1 टन वजनी महालड्डू का भोग, 12 कारीगरों ने किया तैयार

हनुमान जी का मनाया जाता है जन्मदिन

हनुमान जयंती हिंदू धर्म के एक महत्वपूर्ण त्योहार है जो हर साल चैत्र महीने के शुक्ल पूर्णिमा को मनाया जाता है। यह त्योहार हनुमान जी के जन्मदिन के रूप में मनाया जाता है और हिंदू धर्म के अनेक भक्त इसे बहुत उत्साह से मनाते हैं। हनुमान जी को हिंदू धर्म में भगवान श्री राम के भक्त के रूप में जाना जाता है। वे भक्ति, सेवा, त्याग और शक्ति के प्रतीक हैं जिन्होंने सुंदरकांड में भगवान राम की सेवा की थी। उनकी सभी गुणों के कारण वे हिंदू धर्म में एक महत्वपूर्ण देवता माने जाते हैं।

लोग हनुमान चालीसा का करते हैं पाठ

हनुमान जयंती के दिन भक्त उन्हें पूजते हैं और उनके नाम का जाप करते हैं। इस दिन अलग-अलग जगहों पर हनुमान जी के मंदिरों में भक्तों की भीड़ लगती है। भक्त इस दिन दान-धर्म करते हैं और पूरे दिन भक्ति भाव में रहते हैं। इस दिन कुछ लोग हनुमान चालीसा का पाठ करते हैं और कुछ लोग भक्ति गीत गाते हैं। साथ ही, भगवान को भोग भी चढ़ाते हैं जो कि एक धार्मिक आदत है जो अपने ईश्वर को समर्पित करने का एक तरीका है।

जबलपुर से संदीप कुमार की रिपोर्ट


About Author
Sanjucta Pandit

Sanjucta Pandit

मैं संयुक्ता पंडित वर्ष 2022 से MP Breaking में बतौर सीनियर कंटेंट राइटर काम कर रही हूँ। डिप्लोमा इन मास कम्युनिकेशन और बीए की पढ़ाई करने के बाद से ही मुझे पत्रकार बनना था। जिसके लिए मैं लगातार मध्य प्रदेश की ऑनलाइन वेब साइट्स लाइव इंडिया, VIP News Channel, Khabar Bharat में काम किया है। पत्रकारिता लोकतंत्र का अघोषित चौथा स्तंभ माना जाता है। जिसका मुख्य काम है लोगों की बात को सरकार तक पहुंचाना। इसलिए मैं पिछले 5 सालों से इस क्षेत्र में कार्य कर रही हुं।

Other Latest News