स्मार्ट सिटी जबलपुर में कसरत के लिए बनाए गए ओपन जिम, 20 से 25 लाख रुपए किए खर्च

जबलपुर में बनाए गए ओपन जिम (open gym) । ओपन जिम को लेकर कांग्रेस ने उठाए सवाल।

open gym in jabalpur

जबलपुर, संदीप कुमार। कोरोना काल ( Corona era) में कसरत करके सेहत बनाना अब आसान हो गया है। स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट (Smart city project) में साल भर बाद ही सही पर शहर के 10 स्थानों में से 6 स्थानों पर ओपन जिम (Open gym) शुरू कर दिए गए हैं। जबकि चार अन्य स्थानों पर ओपन जिम को जल्द ही शुरू करने की तैयारी स्मार्ट सिटी कर रहा है। मानस भवन में बीते 6 माह से रखें उपकरणों में से आधे ओपन जिम में लगा दिए हैं और आधे स्टोर रूम में रखे-रखे कबाड़ हो रहे हैं। दावा किया जा रहा है कि जल्द ही सभी 10 स्थानों में ओपन जिम का सेट लगाकर उसे शुरू कर दिया जाएगा।

ओपन जिम खोलने का उद्देश्य

कोरोना वायरस संक्रमण (Corona virus infection) के चलते लगे लॉकडाउन (lock down) में लोग काफी लंबे समय तक घरों के अंदर ही रहे हैं और अब अनलॉक हुआ है तो लोग बाहर जाकर स्वास्थ रहने के लिए कसरत करना चाह रहे हैं। जिसको देखते हुए स्मार्ट सिटी ने शहर के दस स्थानों को चिन्हित कर यहां पर उपकरण लगाना शुरू कर दिए हैं। स्मार्ट सिटी के प्रशासनिक अधिकारी का कहना है कि वर्तमान समय को देखते हुए स्वास्थ रहने के लिए कसरत करना जरूरी है। इसी को देखते हुए शहर के दस स्थानों में कसरत करने की मशीन लगवाई जा रही हैं, जिसका बच्चे, बुजुर्ग और महिलाएं उपयोग अपने आपको स्वास्थ्य और फिट रखने के लिए कर सकते हैं।

शहर के इन स्थानों में शुरू किए गए ओपन जिम

ओपन जिम खोलने को लेकर करीब 1 साल से स्मार्ट सिटी के अधिकारी जगह तलाश कर रहे थे और आखिरकार शहर के 10 स्थानों को चिन्हित किया गया है जो कि गुलोआ ताल, ग्वारीघाट, मानस भवन के पीछे, शिवनगर और एमएलबी स्कूल के पास उपकरण लगा दिए गए हैं। जबकि मदन महल और मेडिकल के पास जल्द ही उपकरणों को लगाने की तैयारी की जा रही है।

ओपन जिम में लगे हैं इस तरह के उपकरण

स्मार्ट सिटी के प्रशासनिक अधिकारी बताते हैं कि बच्चे, बुजुर्ग और महिलाओं की सुविधा को देखते हुए, ओपन जिम में 10 तरह के उपकरण लगाए गए हैं, जिन्हें आसानी से यूज किया जा सकता है। सीटेड लेग प्रेससीटेट चेस्ट प्रेसहैंड ग्रिपररोवर डबलपुल चेयरआर्म व्हीलडंबलक्रॉस वकारवेट लिफ्टरफिक्स डंबल।

जगह चिन्हित करने में लगा एक साल

लोगों को स्वस्थ रखने के लिए स्मार्ट सिटी के तहत बनाए गए ओपन जिम के लिए जगह तलाश करने में विभाग को पूरा एक साल लगा है। इसके बावजूद जिस जगह स्मार्ट सिटी ने ओपन जिम खोले हैं, वहां पर चारों तरफ गंदगी का अंबार लगा हुआ है। हर तरफ कचरा फैला हुआ है और बड़ी-बड़ी घास भी उगी हुई है, ऐसे में समझा जा सकता है कि जब ओपन जिम में साफ-सफाई ही नहीं है तो फिर आखिर लोग कैसे यहां कसरत करेंगे और अपने आप को स्वस्थ रखेंगे।

कांग्रेस ने स्मार्ट सिटी के सामने खड़े किए सवाल

कोरोना काल में इन दिनों लोगों को सबसे ज्यादा जरूरत है बेहतर इलाज की, लेकिन मध्यप्रदेश सरकार और जिला प्रशासन इस ओर ध्यान ने देकर ओपन जिम खोलने में जुटा हुआ है। कांग्रेस का आरोप है कि लोग कोरोना वायरस से इतना ज्यादा भयभीत हैं कि वो अपने घरों से ही नहीं निकल रहे हैं, ऐसे में इस ओपन जिम का आज के हालातों को देखते हुए, कोई भी औचित्य नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here