कोरोना के कारण फीकी पड़ी पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जंयती, महज चंद लोग हुए शामिल

जबलपुर, संदीप कुमार। एकात्म मानववाद का मूलमंत्र देने वाले पंडित दीनदयाल उपाध्याय की आज 104 वीं जयंती है। बीजेपी के पितृ पुरुष कहलाने वाले पंडित दीनदयाल उपाध्याय की 104 वीं जयंती को हर साल भारतीय जनता पार्टी धूमधाम से मानती है। पर इस साल कोरोना काल के चलते पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती पूरी तरह से फीकी रही। महज चंद लोग आज जयंती में शामिल हुए और भाजपा के बड़े नेताओं ने दूरी बना रखी।

जबलपुर के दीनदयाल चौक और तिलहरी में भाजपा कार्यकर्ताओं ने पंडित दीनदयाल की प्रतिमा पर मालायार्पण किया। इस मौके पर भाजपा नेता और कार्यकर्ता मौजूद रहे। भाजपा नेताओं ने कहा है कि पंडित दीनदयाल का राजनीतिक जीवन पारदर्शिता रखने का सबक सिखाता है। साथ ही उनके पूरे राजनीतिक जीवन से भाजपा को नई दिशा मिलती रही है और समाज के अंतिम पंक्ति में खड़े व्यक्ति के उत्थान के लिए प्रेरणा मिलती है। इसलिए आज उनके जन्म उत्सव में भाजपा के कार्यकर्ताओं उनके दिखाए रास्ते पर चलने का संकल्प लेते है।