लोगों को मिली राहत जबलपुर नैनपुर ट्रेन हुई फिर से चालू

जबलपुर, संदीप कुमार। जबलपुर वालों के लिए राहत की खबर आ रही है रेलवे की तरफ से। दरअसल कोरोना के चलते जो ट्रेन स्थगित कर दी गयी थी। उसे वापस से ट्रैक पर हरी झंडी मिल चुकी है। जी हाँ! जबलपुर-नैनपुर पैसेंजर ट्रेन को आज से फिर शुरू कर दिया गया है। लंबे समय से यात्रियों की मांग इस ट्रेन को पुनः चलाने के लिए उठ रही थी। इस ट्रेन को चलाने के लिए नैनपुर निवासी एक युवक ने जनहित याचिका भी लगाई थी। जिस पर हाई कोर्ट ने भी संज्ञान लिया था और कहा था कि केंद्रीय मंत्री फग्गन सिंह और सांसद राकेश सिंह को भी केस में पक्षकार बनाया था।

यह भी पढ़ें – सुरेश रैना पहले दिन ही नहीं बिके

हाईकोर्ट की फटकार के बाद आनन फानन में मंत्रालय ने शुक्रवार याने 11 फरवरी को इस पैसेंजर ट्रेन चलाने की एक घोषणा कर दी थी पर कुछ माननीयो के इशारे पर यह ट्रेन 24 घंटे बाद आज जबलपुर से रवाना हुई। ट्रेन को हरी झंडी दिखाने के लिए आज केंद्रीय रेल मंत्री अश्वनी वैष्णव, केंद्रीय मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते, केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल,विधानसभा अध्यक्ष गिरीश गौतम वर्चुल जुड़े, ट्रेन को प्लेटफार्म नंबर 1 से रवाना करने के लिए भाजपा नेताओ सहित रेलवे के अधिकारी भी रहे।

यह भी पढ़ें – Law का छात्र गिरफ्तार

रेल्वे अधिकारियों के मुताबिक इस ट्रेन के शुरू हो जाने से आम यात्रियों को काफी हद तक राहत मिलेगी इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि लंबे समय से इस ट्रेन को शुरू करने की मांग उठ रही थी। जबलपुर नैनपुर पैसेंजर ट्रेन को कल रवाना होना था पर कुछ माननीय के इशारे पर इस ट्रेन को 24 घंटे बाद यानी कि आज रवाना किया गया। जानकारी के मुताबिक 7 सवारी और 2 एसएलआर सहित 9 डिब्बों की ट्रेन में महज 5 से 10 यात्री रवाना हुए हैं। हालांकि रेलवे के अधिकारियों का कहना है कि आज पहला दिन था इस वजह से यात्री बहुत कम आए थे, ऐसे में सवाल यह उठता है कि जब कल इस ट्रेन को रवाना करना था तो फिर 24 घंटे क्यों विलंब किया गया।

यह भी पढ़ें – कांग्रेस के ‘लड़की हूं लड़ सकती हूं’ कैंपेन की तीसरी पोस्टर गर्ल भी बीजेपी में हुई शामिल

वहीँ मंत्री राकेश सिंह ने ट्वीट के माध्यम से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव जी को धन्यवाद किया। वहीँ सभी नेताओं ने मिलकर वर्चुअल ट्रैन को हरी झंडी दिखाई। ऑनलाइन झंडी दिखाने के लिए मंत्री राकेश सिंह, फग्गन सिंह कुलस्ते के साथ साथ रेल मंत्री भी मौजूद थे।