हाईकोर्ट में बंदी प्रत्यक्षीकरण मामले में दायर याचिका, पढ़े पूरी खबर

हाईकोर्ट ने टीकमगढ़ और छतरपुर जिलों के एसपी को मामले की जांच और कार्यवाई करने के निर्देश दिए हैं।

Jabalpur News

जबलपुर, संदीप कुमार। टीकमगढ़ से भाजपा विधायक राकेश गिरी की बहन कल्याणी गिरी पर, जनपद अध्यक्ष का चुनाव जीतने के लिए सदस्यों के अपहरण का आरोप लगा है। मामले को लेकर मध्यप्रदेश हाईकोर्ट (jabalpur high court) में बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका दायर की गई है। हाईकोर्ट ने इस याचिका पर सुनवाई करते हुए टीकमगढ़ जिले के एसपी को आदेश दिया है कि वो पूरे मामले की जांच करें और वैधानिक कार्यवाई भी करें।

यह भी पढ़े…मुख्यमंत्री द्वारा भेजे गए खिलोनों की चोरी में बच्चा चोर गिरोह का हाथ, पुलिस ने पकड़ा

हाईकोर्ट में याचिका टीकमगढ़ जनपद पंचायत के वार्ड क्रमांक 19 से निर्वाचित सदस्य गुड्डी के रिश्तेदार रामेश्वर यादव ने दायर की है। याचिकाकर्ता के वकील दिनेश उपाध्याय ने बताया कि भाजपा विधायक राकेश गिरी की बहन कल्याणी गिरी टीकमगढ़ जनपद पंचायत के अध्यक्ष पद की दावेदार हैं। जो जनपद सदस्यों पर उन्हें समर्थन देने का लगातार दबाव बना रहीं थीं।

यह भी पढ़े…बहुचर्चित अस्पलात गबन मामले में बड़ी करवाई, 1.5 करोड़ का बंगला सहित 2 करोड़ की प्लॉट की रजिस्ट्री जब्त

याचिका में यह भी कहा गया है कि जनपद सदस्य गुड्डी, कल्याणी गिरी से डरकर छतरपुर में अपने रिश्तेदार याचिकाकर्ता के घर आ गईं थीं, लेकिन बीती 7 जुलाई को कल्याणी गिरी के गुंडों ने उसे अगुआ कर लिया। याचिका में आशंका जताई गई है कि टीकमगढ़ जनपद पंचायत के सभी 9 सदस्यों को सीधे 27 जुलाई को, अध्यक्ष के निर्वाचन के दिन सामने लाया जाएगा और उनसे कल्याणी गिरी को समर्थन दिलवा दिया जाएगा। याचिका में कहा गया है कि मामले को लेकर बार बार शिकायतों के बावजूद पुलिस ने अब तक कोई कार्यवाई नहीं की है। हाईकोर्ट ने टीकमगढ़ और छतरपुर जिलों के एसपी को मामले की जांच और कार्यवाई करने के निर्देश दिए हैं।