खुलासा: कार्टून चुराकर ले जा रहे युवक को लगा करंट, साथियों ने नहर में फेंकी बॉडी

police-busted-crime-mystery-of-missing-boy

जबलपुर। दिनॉक 12-8-18 को पुरूषोत्तम पटेल ने रांझी में सूचना दी गयी थी कि उसका बेटा रिछाई स्थित पारले बिस्किट फैक्ट्री में काम करता था जिसका कुछ पता नहीं चल रहा है। सूचना पर रांझी पुलिस ने गुम इंसान कायम कर जांच शुरू की। अगले दिन जलगॉव पनागर थाना पुलिस को सूचना मिली कि एक अज्ञात मृतक का शव गॉव के पास बडी नहर के पानी मे उतारा रहा है। 

सूचना पर मौके पर पहुची पुलिस ने शव का शिनाख्त किया तो पाया कि शव विनय का है।पुलिस में मार्ग कायम कर शव को पोस्टमार्टम के मेडिकल रेफर कर जांच शुरू कर दी।पनागर पुलिस ने जांच कें दौरान पाया कि मृतक विनय पटेल के साथ प्रमोद कुशवाहा विगत एक वर्ष से रिछाई स्थित पारले बिस्किट फैक्ट्री में काम करता था, जिससे गहरी दोस्ती थी, प्रमोद के द्वारा फैक्ट्री से बिस्किट के कार्टून चोरी कर बेचने की भूमिका बनायी गयी 11 अगस्त की रात को साथी राजा कुशवाहा, विनय पटेल, सौरभ सेन, एवं एक 16 वर्षिय किशोर के साथ बिस्किट का कार्टून चुराकर लुक छिपकर जा रहे थे जाते समय गन्ने के खेत लगे तार से विनय को पैर में करंट लग गया जिससे विनय गिर कर बेहोश हो गया। 

विनय को इलाज के लिये अस्पताल न ले जाकर चोरी की घटना को छिपाने के लिये मोटर सायकिल में विनय पटेल को बेहोशी की हालत में 16 वर्षिय किशोर के साथ इमलिया के रास्ते से ग्राम जलगॉव के पास स्थित बडी नहर के पानी मे ले जाकर फेंक दिये।विनय की मौत को सुलझाने में टीम के द्वारा सरगर्मी से तलाश करते हुये आरोपी प्रमोद कुमार कुशवाहा, राजा कुशवाहा, सौरभ सेन एवं 16 वर्षिय किशोर को गिरफ्तार किया गया एवं घटना में प्रयुक्त मोटर सायकिल भी जप्त की गयी है।पकडे गये आरोपी प्रमोद कुशवाहा ने पूछताछ पर यह भी स्वीकार किया कि विनय पटेल से पूर्व में हिस्से बंटवारे को लेकर आपस में कहा सुनी हुई थी, उसने विनय की पहचान छिपाने के लिये विनय के जेब से विनय का आधार कार्ड, वोटर कोर्ड, एसबीआई बैंक का एटीएम कार्ड, निकाकर अपने पास रख लिया था।