पुलिस ने बालक राम पटेल हत्याकांड का किया खुलासा, एक नाबालिक सहित छ: लोग गिरफ्तार

संदीप कुमार।जबलपुर।

होली पर्व में अपनी ससुराल आये युवक बालक राम पटेल की 10 मार्च की शाम को चाकूओं से गोंदकर हत्या कर दी गई थी।इस हत्याकांड का रांझी पुलिस ने खुलासा करते हुए एक नाबालिक सहित 6 आरोपियों को गिरफ्तार किया है।आरोपियों ने बालक राम की सिर्फ इसलिए चाकूओं से गोदकर हत्या कर दी थी क्योंकि वह अपनी मोटरसाइकिल स्टार्ट कर तर्ज आवाज कर रहा था महज इतनी सी बात पर आरोपी शनि,हिमांशु,अमन,सुनील,अभिषेक और एक नाबालिग का मृतक से विवाद हो गया।विवाद के दौरान दोनों ही पक्षों में जमकर गाली गलौज भी हुई।उसी समय शनि,अमन और अभिषेक ने लाठियों से उस पर हमला कर दिया इधर हिमांशु ने अपने पास रखे चाकू से बालक राम पर एक के बाद एक कई वार किए।

विवाद होता देख बालक राम के रिश्तेदार भी मौके पर पहुँच कर विवाद शांत करवाया और उसे लेकर सिविल अस्पताल रांझी और फिर जिला अस्पताल लेकर पहुँचे जहाँ परीक्षण के दौरान बालक राम की मौत हो गई।इधर सूचना के बाद मौके पर रांझी थाना पुलिस पहुँची और आरोपियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर तलाश शुरू कर दी।आज पुलिस को सूचना मिली कि सभी आरोपी सतपुला के पास छिप कर बैठे हुए जिसके बाद उनकी घेराबंदी कर गिरफ्तार किया गया।पुलिस ने हत्या में प्रयुक्त चाकू और लाठी भी बरामद कर ली है।

इससे पहले भी रांझी में शुभम थापा के साथ हिमांशु यादव, अमन महोबिया ने गुलाल फैंके जाने को लेकर विवाद हुआ था।बताया जा रहा है कि शुभम थापा ने गुलाल डालने से मना किया तो तीनों ने एक राय होकर गाली गलौज की एवं हिमांशु यादव ने चाकू से हमला कर शुभम थापा के वांये हाथ मे चोट पहुचा दी, अमन महोबिया एवं अन्य ने हाथ मुक्कां से मारपीट की तथा तीनों जान से मारने की धमकी देते हुये भाग गये थे।

गिरफ्तार आरोपी में शनि उर्फ ऋतिक यादव पिता सुदेश यादव उम्र 24 वर्ष निवासी पंचायती कुंआ के पास गोकलपुर थाना रांझी, हिमांशु यादव पिता हरिराम यादव उम्र 19 वर्ष निवासी पंचायती कुंआ के पास गोकलपुर रांझी, अमन महोबिया पिता अरविंद महोबिया उम्र 18 वर्ष निवासी पुराने सेन्ट्रल बैंक के पीछे गोकलपुर रांझी, अभिषेक पाण्डे पिता सुदेश पाण्डेय उम्र 19 वर्ष निवासी सामुदायिक भवन के पास गोकलपुर रांझी, सुनील यादव पिता श्याम लाल यादव उम्र 42 वर्ष निवासी पंचायती कुंआ के पास गोकलपुर रांझी ,एक 17 वर्षिय किशोर शामिल थे।