मानव तस्करी मामले में आरोपी को पकड़ने गई पुलिस, खाली हाथ लौटी

जबलपुर, संदीप कुमार। मदनमहल और ग्वारीघाट में रहने वाली दो महिलाओं को ह्यूमन ट्रैफिकिंग (human trafficking ) कर राजस्थान ले जाया गया था, जहाँ एक महिला को 2 लाख 80 हजार रुपये में बेचा गया था जबकि एक महिला को साँवला रंग होने के चलते वापस जबलपुर भेज दिया गया। यह खुलासा होने के बाद जबलपुर पुलिस ने एक महिला सहित 3 लोगो को जबलपुर में गिरफ्तार किया था जबकि मुख्य आरोपी को पकड़ने के लिए राजस्थान गई जबलपुर पुलिस को आज खाली हाथ वापस लौटाना पड़ा।

ये भी देखिये – सेक्स रैकेट संचालित करने वाले गिरोह पर पुलिस का शिकंजा, भाजपा महिला मोर्चा मंडल की शिकायत पर की कार्रवाई

पाँच सदस्यीय पुलिस की टीम लौटी खाली हाथ
ह्यूमन ट्रैफिकिंग मामले में फंसे मुख्य आरोपी सुरेश कुमार और जमुना शंकर को गिरफ्तार करने पाँच सदस्यीय जबलपुर पुलिस की टीम राजस्थान के बूंदी और उदयपुर गई थी, जहाँ दोनो ही आरोपी पुलिस के पहुँचने से पहले ही फरार हो गए। ऐसे में जबलपुर पुलिस को वापस खाली हाथ लौटना पड़ा। हालांकि एक बार पुनः जबलपुर पुलिस राजस्थान जाने की तैयारी में जुट गई है। कहा जा रहा है कि इस बार पुलिस पूरी तैयारी से जाएगी।

जबलपुर पुलिस जल्द करेगी आरोपियों पर इनाम घोषित
राजस्थान के बूंदी-उदयपुर में आरोपी सुरेश कुमार और जमुना शंकर को गिरफ्तार करने गई पुलिस को जब आरोपी नही मिले तो अब माना जा रहा है कि जल्द ही दोनों आरोपियों पर पुलिस इनाम घोषित करने की तैयारी में जुट गई है।

यह था घटनाक्रम
जबलपुर के मदनमहल में रहने वाली एक महिला करीब 40 दिन बाद राजस्थान कोटा से जबलपुर आई महिला ने अपने साथ हुई आप बीती की कहानी मदन महल थाना पुलिस को बताई थी। जिसके बाद ग्वारीघाट थाना पुलिस के साथ मिलकर मदनमहल पुलिस ने महिला की निशानदेही पर अनिल बर्मन, ज्योति और संतोषी को गिरफ्तार करने में कामयाबी पाई।आरोपियों ने पुलिस को पूछताछ में बताया कि राजस्थान निवासी सुरेश सिंह ने उन्हें 2,80000 रुपये में बेचा था।