राजनीति की भेंट चढ़ा प्रदेश के सबसे बड़े फ्लाई ओवर ब्रिज का भूमिपूजन

politics-on-Bhoomi-pujjan-of-the-largest-flyo-ver-bridge-in-the-state-

जबलपुर|  मध्य प्रदेश के जबलपुर को आज प्रदेश की सबसे बड़ी फ्लाईओवर ब्रिज की सौगात मिली है। दमोह नाका से मदन महल तक बनने वाले इस फ्लाई ओवर ब्रिज का आज केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने भूमि पूजन किया। इस दौरान भाजपा प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह भी मौजूद रहे तो वहीं कमलनाथ सरकार में लोक निर्माण मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने अपने साथी कांग्रेस विधायको के साथ कार्यक्रम में अपनी उपस्थिति दर्ज करवाई।

करीब 758 करोड़ की लागत से बनने वाले फ्लाईओवर ब्रिज की लंबाई 6 किलोमीटर होगी। माना जा रहा है कि इस फ्लाईओवर ब्रिज को 3 साल में बना कर पूरा कर लिया जाएगा। मध्य प्रदेश और जबलपुर के लिए मील का पत्थर साबित होने वाला यह फ्लाई ओवर ब्रिज शुरुआती दौर में ही पूरी तरह से राजनीति की भेंट चढ़ गया। तय समय से 2 घंटे विलंब से पहुंचे केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने महज 2 मिनट में ही भूमि पूजन कर वहां से अपनी रवानगी ले ली। जबकि प्रदेश के लोक निर्माण मंत्री सज्जन सिंह वर्मा केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के आने से पहले ही पूजा-पाठ कर एक किनारे हो गए।

फ्लाईओवर को लेकर लोक निर्माण मंत्री का कहना था कि यह केंद्र और राज्य सरकार की संयुक्त रूप से रजामंदी के चलते बन रहा है। वहीं जबलपुर में बन रहे फ्लाईओवर को लेकर लोक निर्माण मंत्री ने राज्यसभा सांसद विवेक तंखा की मेहनत बताया है तो वही सांसद राकेश सिंह के प्रयासों को भी सराहा है। मध्य प्रदेश के जबलपुर में बनने वाले प्रदेश के सबसे बड़े फ्लाईओवर ब्रिज का भूमि पूजन दमोह नाका में हुआ | इस कार्यक्रम में लगा भूमि पूजन का बैनर यहां पर उपस्थित सब के लिए चर्चा का विषय बना रहा है क्योकि विभाग कर तो रहा था फ्लाई ओवर ब्रिज का भूमिपूजन जबकि हाईवे का चित्र बैनर में लगा रखा था। जिससे में कि एक तरफ केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी की तस्वीर थी तो दूसरी और कमलनाथ की।