स्तन कैंसर के प्रति जागरूक करने के लिए कार्यक्रम, महिलाओं को दी महत्वपूर्ण जानकारी

जबलपुर, संदीप कुमार। महिलाओं में तेजी से स्तन कैंसर की बीमारी तेजी से फैल रही है। एक उम्र के बाद ये बीमारी होने की आशंका ज्यादा बढ़ जाती है। इस बीमारी को लेकर जबलपुर मेडिकल कॉलेज में गुरूवार को वृहद स्तर पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इसमें मेडिकल कॉलेज के डीन सहित कई डॉक्टर्स उपस्थित रहे। इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य था कि स्तन केंसर को लेकर महिलाओ को जागरूक किया जा सके।

अंधविश्वास के चलते मासूम की हत्या, खाद की बोरी ने पकड़वाया आरोपी

स्तन कैंसर ऐसी बीमारी है जिसका अगर प्रारंभिक अवस्था में पता लगाकर इलाज किया जाए तो ये पूरी तरह ठीक हो सकती है। स्तन कैंसर से ग्रसित 60 प्रतिशत महिलाओं की मृत्यु हो जाती है, जबकि विकसित देशों में 100 कैंसर पीड़ित महिलाओं में से 98 ठीक हो जाती हैं। हमारे यहां इसके तेजी से फैलने का प्रमुख कारण है बीमारी को लेकर महिलाओ में जागरूकता का अभाव। इसीलिए महिलाओं में जागरूकता बढ़ाने के लिए मेडिकल कॉलेज जबलपुर में एक जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया गया।

कार्यक्रम में 250 से ज्यादा नर्सिंग छात्रों को स्तन कैंसर क्या है, कैसे होता है तथा कैसे प्रारंभिक अवस्था में इसके लक्षण से पहचाना जा सकता है इस बारे में जानकारी दी गई। इस अवसर पर डीन प्रोफेसर पी.के कसार ने बताया की कैंसर से केवल मरीज नहीं बल्कि पूरा परिवार प्रभावित होता है। वहीं प्रोफेसर दीप्ति शर्मा ने स्तन परीक्षण की विधि बताई जिससे इसको आसानी से पहचान सकते हैं। डॉ अर्पण मिश्रा ने इसकी जांच के बारे में जानकारी दी और डॉ संजय कुमार यादव ने स्तन कैंसर के उपचार के बारे में बताया। स्तन कैंसर से जुड़े कार्यक्रम में प्रो.अरविंद शर्मा, प्रो.रिचा शर्मा, प्रो.सीमा सूर्यवंशी, प्रो.अर्जुन सक्सेना, प्रो.आशुतोष सिलोदिया, डॉ.रीना कोठरी, डॉ.अरविंद बघेल, डॉ हरी कृष्ण दामडे सहित कई लोग उपस्थित रहे।