CAA के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान बिगड़े हालात, पुलिस पर पथराव, आधा दर्जन पुलिसकर्मी घायल

जबलपुर| नागरिकता संशोधन कानून को लेकर पूरे देश में लगातार विवाद की स्थिति बन रही है। जबलपुर में भी आज नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में एक समुदाय के लोग सड़कों पर उतर कर प्रदर्शन करने लगे। धारा 144 लागू होने के बाद भी सैकड़ों की संख्या में मंडी मदार टेकरी के पास लोग एकत्रित हुए जिन्हें पुलिस ने पहले तो अपने-अपने घर जाने की समझाइश दी पर जब लोग नहीं माने तो पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर आंसू गैस के गोले छोड़ दिए। 

इधर पुलिस की इस कार्रवाई के विरोध में प्रदर्शनकारियों ने उन पर ही पथराव कर दिया लिहाजा आधा दर्जन पुलिसकर्मी जहां पथराव में घायल हो गए हैं तो वहीं पुलिस की कई गाड़ियां भी क्षतिग्रस्त हो गई है। पुलिस पर पथराव करने वाले प्रदर्शनकारियों को पुलिस ने जब खदेड़ने की कोशिश की तो उन्होंने पीछे से पुलिस पर हमला कर दिया यही वजह थी कि अचानक से हुए पथराव के चलते पुलिस कुछ भी नहीं समझ पाई।लगातार विवाद को देखते हुए कलेक्टर ने भान तलैया से लेकर रद्दी चौकी तक के इलाके को पूरी तरह से बंद करवा दिया। 

बता दें कि मध्य प्रदेश के मुफ्ती ए आजम के साथ कल जिला प्रशासन की एक अहम बैठक हुई थी इस बैठक में प्रशासन को आश्वस्त किया गया था कि किसी भी तरह का प्रदर्शन नहीं होगा।बावजूद इसके आज दोपहर अचानक से ही सैकड़ों लोग नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में सड़कों पर उतर आए और पुलिस पर पथराव कर दिया। बहरहाल अब स्थिति पूरी तरह से कंट्रोल में है।हालांकि जबलपुर कलेक्टर भरत यादव और एसपी अमित सिंह लगातार शहर के संवेदनशील इलाके में भ्रमण कर रहे हैं।पुलिस ने इस पूरे प्रदर्शन के मामले में अभी 50 से ज्यादा लोगों को चिन्हित कर उन पर कार्यवाही करने की तैयारी शुरू कर दी है।