तत्काल टिकट बुक रहे हैं तो पढ़ें ये नया नियम, वरना हो सकती है परेशानी

railway-change-rule-for-booking-tatkal-ticket

जबलपुर। तत्काल बुकिंग में दलाली रोकने के लिए रेलवे के सख्त कदम उठाने शुरू कर दिया हैं। नए नियम के मुताबिक अब पैसेंजर को टिकट बुकिंगकर्ता की आईडी साथ लेकर सफर करना होगी। इस नियम के लागू होने से रेलवे का मानना है कि तत्काल बुकिंग में होने वाली दलाली पर रोक लग सकेगी। फिलहाल टिकट बुक करने वाले की आईडी साथ लेकरक चलने का निमय नहीं है। 

जानकारी के मुताबिक रेलवे ने तत्काल टिकट बुकिंग में बड़ा फेरबदल किया है। अब पैसेंजर को अपने साथ उस व्यक्ति की आईडी साथ लेकर सफर में चलना होगी जिल आईडी से उसका टिकट बुक किया गया है। रेलवे का मानना है कि इससे टिकट की बढ़ती बलाली पर रोक लगने में मदद मिलेगी। अभी तक कई लोग मजबूरी में अपना टिकट कई गुना ज्यादा कीमत चुका करक बुक करवाते हैं। पर्सनल आईडी से टिकट बुक करने के बाद कुछ लोग उन्हें दो गुना रेट में बेचते हैं। आईआरसीटीसी ने अपने सभी रजिस्टर्ड यूजर्स का डाटा जुटाना शुरू कर दिया है। यात्रा के दौरान किसी तरह की परेशानी का सामना यात्रियोंं को नहीं करना पड़े इसके लिए रेलवे उनके मोबाइल पर भी अलर्ट मैसेज भेज रहा है। 

क्यों उठाया ये कदम

असल में देश में त्योहारों के समय यात्रा करने वाले यात्रियों की संख्या बढ़ जाती है। ऐसे में टिकट को लेकर मारामारी होने लगती है। मौके का फायदा उठाकर दलाल आईआरसीटीसी से टिकट बुकिंग के चार्ज के अलावा मनमर्जी के पैसे अलग से यात्रियों से वसूल करते हैं। आईआरसीटीसी ने इस पूरे मामले की तहकीकात की। फिर एक मिशन चलाया गया। इसमें ऐसे लोगों की धरपकड़ शुरू की गई जो अपनी पर्सनल आईडी से यात्रियों के टिकट बुक कर उनसे ज्यादा रूपए वसूल कर हे थे। जब आईआरसीटीसी  और आरपीएफ ने जांच शुरू की तो पता चला टिकट बुक करने के लिए एजेंट तत्काल टिकट बुक करने कई आईडी बना रहे हैं। इसके लिए एजेंट से 40 से 60 आईडी तक बना रखी है। पर्सनल आईडी से अनाधिकृत तौर पर तत्काल टिकट कराने वालों ने दशहरा, दिवाली और छठ के दौरान बड़ी संख्या में तत्काल कोटे की टिकट बुक की गई।