रेल्वे के निजीकरण के चलते रेल्वे कर्मचारी उतरे सड़को पर

510

जबलपुर। केंद्र सरकार केंद्रीय सुरक्षा संस्थानों सहित रेल्वे को निजी हाथों में सौपने की तैयारी कर रही है जिसको लेकर देश भर में कर्मचारी सरकार के खिलाफ प्रदर्शन भी कर रहे है।सुरक्षा संस्थानों के कर्मचारियों के बाद अब रेल्वे में कार्यरत कर्मचारियों ने केंद्र सरकार के खिलाफ आंदोलन छेड़ दिया है।जबलपुर में आज रेल्वे के सेकड़ो कर्मचारियों ने केंद्र सरकार के खिलाफ आंदोलन किया और केंद्र सरकार का पुतला भी फूंका।इस दौरान केंद्र सरकार को कर्मचारियों ने उग्र आंदोलन करने की चेतावनी भी दी।प्रदर्शन कर रहे कर्मचारियों की माने तो वर्तमान की मोदी सरकार कर्मचारी विरोधी सरकार है क्योंकि सिर्फ पूजीपतियों को ही इस गवर्मेंट में बढ़ावा मिल रहा है।कर्मचारी नेता नवीन लटोरिया ने बताया कि रेल मंत्रालय ने निजीकरण की तैयारी करते हुए पहले एक गाड़ी तेजस एक्सप्रेस जो कि लखनऊ से दिल्ली के बीच चलती है उसे आईआरसीटीसी को दिया और अब रेल्वे ने एक आदेश जारी किया है कि 150 ट्रेन और पचास रेल्वे स्टेशन निजी किए जाएंगे।केंद्र सरकार और रेल मंत्रालय के इस फैसले के विरोध में आज wcreu के बैनर तले केंद्र सरकार के खिलाफ हल्ला बोला और पुतला फूंका साथ ही चेतावनी दी है कि अगर ट्रेनों को निजी हाथों में सोंपा तो जबलपुर मंडल से किसी भी निजी ट्रेन को निकलने नही दिया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here