रानी दुर्गावती के नाम पर हो डुमना एयरपोर्ट का नाम, केंद्रीय उड्डयन मंत्री से मिले राकेश सिंह

Rakesh-Singh-met-the-Union-Aviation-Minister

 जबलपुर| डुमना विमानतल जबलपुर का नाम वीरांगना रानी दुर्गावती के नाम पर रखा जाए इस आग्रह के साथ भाजपा प्रदेश अध्यक्ष साँसद राकेश सिंह ने केंद्रीय उड्डयन मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) हरदीपसिंह पूरी से दिल्ली में भेंट कर पत्र सौंपा।  भाजपा प्रदेश अध्यक्ष साँसद राकेश सिंह ने मप्र के तत्कालीन मुख्यमंत्री एवँ वर्तमान में भाजपा राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवराज सिंह चौहान से मप्र विधानसभा से जबलपुर विमानतल का नाम वीरांगना रानी दुर्गावती के नाम पर किये जाने का प्रस्ताव पारित कर केंद्र सरकार को भेजने के लिए आग्रह किया था। 

उल्लेखनीय है कि उक्त प्रस्ताव को मप्र विधानसभा से भी मंजूरी उपरांत आपके मंत्रालय को भेज गया है। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष साँसद सिंह ने केंद्रीय मंत्री श्री पूरी से मुलाकात कर बताया कि वीरांगना रानी दुर्गावती ने देश की सुरक्षा, स्वतंत्रता सर्वांगीण विकास तथा स्त्री शक्ति के सम्मान एवँ स्वावलंनब के लिए किए गये त्याग को प्रदेश के साथ पूरे देश मे ससम्मान स्मरण किया जाता है। इन्होंने प्रजा के स्वाभिमान की रक्षा के लिए मुगल शासकों के युद्ध की कि कि चुनोती को स्वीकार करते हुए विजय प्राप्त की थी। इनके प्रकृति प्रेम एवँ जल संरक्षण की अद्वितीय दूरदर्शिता के कारण सम्पूर्ण गोंडवाना (।महाकौशल क्षेत्र) आज भी जल से समुर्द्ध है।

राकेश सिंह ने बताया कि रानी दुर्गावती का साम्राज्य वर्तमान उत्तरप्रदेश, तेलगांना, उड़ीसा, महाराष्ट्र आदि राज्यो की सीमाओ को छूता था।  जबलपुर (गढ़ा – मंडला) मध्यप्रदेश को राजधानी बनाकर इन्होंने 16 वर्षो तक अनवरत स्वर्णिम प्रशासन कर अपने महान बलिदान से देश प्रेम की भावना जागृत की थी। इनके जीवन आदर्श, शौर्य को नई पीढ़ी तक पहुँचाने के लिये इनके नाम से जबलपुर विमानताल का नाम किया जाना सर्वथा उचित होगा। इस संबंध में अनेको संस्थानों व से संगठनों ने जबलपुर हवाई अड्डे के नाम वीरांगना रानी दुर्गावती के नाम से किये जाने हेतु आग्रह किया गया है। सिंह ने केंद्रीय मंत्री पूरी से आग्रह किया कि महाकौशल क्षेत्र की जनभावनाओं को ध्यान में रखते हुए एवँ उनकी स्मृति एवँ कृति को अक्षुण्ण बनाये रखने के लिए जबलपुर विमानतल किये जाने हेतु आवश्यक कार्यवाही करने का कष्ट करें।