जबलपुर| कभी समाजवादी पार्टी तो कभी कांग्रेस तो कभी भाजपा पार्टी का दामन थामने वाले विधायक नारायण त्रिपाठी एक बार फिर कांग्रेस के करीब आ गए है। वर्त्तमान में मैहर से भाजपा विधायक नारायण त्रिपाठी की आज भोपाल में खेल मंत्री जीतू पटवारी के साथ हुई बंद कमरे में बैठक से अब कई तरह के कयास फिर से उठने लगे है। हालाकि भारतीय जनता पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष राकेश सिंह इस मुलाकात से जरा भी इत्तफाक नही रखते है।  

जबलपुर में भाजपा की संभागीय बैठक में शामिल होने आए भाजपा प्रदेशाध्यक्ष राकेश सिंह ने जीतू पटवारी ओर नारायण त्रिपाठी की मुलाकात से अनभिज्ञता दिखाते हुए कहा कि मुझे इस मुलाकात के विषय मे जानकारी नही है हांलकि उन्होंने बाद में ये जरूर कहा कि क्या भाजपा और कांग्रेस के विधायक आपस ने दोस्त नही हो सकते है, क्या ऐसा नही हो सकता।

इधर कांग्रेस सरकार के द्वारा गौवंश के इलाज में रुपए वसूलने पर भी राकेश सिंह ने कहा कि यह बहुत ही दुर्भाग्य की बात है कि गौ माता सड़कों पर घूम रही है जबकि कमलनाथ सरकार ने ऐलान किया था कि पूरे मध्यप्रदेश की हर पंचायत में गौशाला बनवाई जाएगी।आज अगर गौ माता सड़को पर घूम रही है तो इसके लिए भी कांग्रेस सरकार ही जिम्मेदार है क्योंकि दिग्विजय सिंह ने अपने मुख्यमंत्री काल में गोचर की पूरी भूमि का बंदरबांट कर लिया था और गौ माता के लिए जगह नहीं छोड़ी थी।उसके बाद भी कमलनाथ ने   कहा था कि गौशाला बनवा जाएगी।आज गौशाला तो दूर की बात है अब उनके उपचार के लिए भी पैसे लिए जा रहे हैं इससे शर्मनाक बात नही हो सकती।