Rakesh-Singh's-challenge-to-BJP-state-president-Rakesh-Singh-in-jabalpur-seat-

जबलपुर|  मध्यप्रदेश बीजेपी अध्यक्ष राकेश सिंह को उनके गृह नगर जबलपुर लोकसभा क्षेत्र में दो ऐसे लोगों से चुनौती मिलेगी, जिनके नाम उनके नाम व उपनाम से मिलते जुलते है| राकेश सिंह ने जबलपुर लोकसभा क्षेत्र से अपना पर्चा दाखिल किया है, जहां उनका मुकाबला मुख्य प्रतिद्वंद्वि कांग्रेस के विवेक तन्खा के अलावा दो हमनाम उम्मीदवार से होगा| 

राकेश सिंह के खिलाफ जबलपुर में चुनाव मैदान में उतरे दोनों राकेश ने निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर नामांकन दाखिल किया है| इनमें से एक ने फॉर्म में सिर्फ राकेश लिखा है और शपथ पत्र में राकेश सिंह के नाम से हस्ताक्षर किए हैं| राकेश नाम का यह उम्मीदवार पंचायती कुआं गोकलपुर इलाके का रहने वाला है| जबकि दूसरे निर्दलीय उम्मीदवार राकेश सिंह ने पर्चा भरा है और यह गोकलपुर वार्ड के उदय नगर का रहने वाला है जो भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह के सामने चुनाव मैदान में हैं|

दरअसल इस रणनीति को राजनीतिक भाषा में वोट कटवा का नाम दिया गया है| ताकि मतदाताओं के बीच एक जैसे नाम के कई प्रत्याशी होने पर उनके वोट डायवर्ट हो सकें| लेकिन मतदान वाले दिन ईवीएम की बैलेट यूनिट में सभी प्रत्याशियों के नाम, पार्टी नाम के साथ फोटो भी चस्पा की जाएगी| इससे प्रत्याशी की पहचान वोटर आसानी से कर सकेगा| हालाकि ऐसा विधानसभा चुनाव में भी देखने मिला था, जब पाटन से बीजेपी प्रत्याशी अजय विश्नोई के नाम जैसे ही दूसरे अजय नाम के प्रत्याशी चुनाव लड़े थे।