अनोखी पहल: गणतंत्र दिवस पर यह युवक दिलाता है कैदियों को आजादी

republic-day-this-ngo-working-for-prisoner-

जबलपुर।  जबलपुर केन्द्रीय जेल से आज 25 कैदी रिहा हुए। इनमें से कुछ ऐसे थे जिनका सजा पूरी हो गई थी तो कुछ ऐसे कैदी भी थे जो कि जुर्माना की राशि जमा न कर पाने के अभाव में जेल से रिहा नहीं हो पा रहे थे। पर ऐसे कैदी जिनके पास जुर्माना की राशि नहीं थे उन कैदियों के लिए मसीहा बना शहर का एक समाजसेवी जिसका नाम है कमलेश अग्रवाल। 

शहर का युवा समाजसेवी बीते बारह साल से उन कैदियों की मदद कर रहा है जो कि पैसा के अभाव में रिहा नहीं हो पा रहे है। समाजसेवी कमलेश अग्रवाल की माने तो करीब 12 साल पहले एक टीवी चैनल में उन्होंने देखा था कि एक बुजर्ग पैसे के अभाव में जेल से रिहा नही हो पा रहा है उसी के देख कर कमलेश ने ठाना की वो किसी भी कैदी को पैसों के अभाव में सजा काटने नही देंगे।तभी से कमलेश हर 26 जनवरी और 15 अगस्त को कैदियों के लिए पैसे जमा करते है।अभी तक इस समाज सेवी ने करीब दो हजार से ज्यादा कैदियों को जेल से रिहा करवाया है।आज भी कमलेश अग्रवाल ने कैदियों के लिए 50 हजार रु जमा किए है।