रिटायर्ड जनरल जीडी बख्शी की चीन को चेतावनी, राहुल गांधी को भी दी नसीहत

भारत-चीन विवाद पर जनरल जीडी बक्शी ने कहा है कि अब वक्त आ गया है कि भारत-चीन के बीच हुई हथियार न चलाने की संधि पर पुनर्विचार किया जाए।

Jabalpur Retired General GD Bakshi : भारत और चीन के बीच चल रहे सीमा विवाद को लेकर रिटायर्ड जनरल जीडी बक्शी का बड़ा बयान सामने आया है। भारत-चीन विवाद पर जनरल जीडी बक्शी ने कहा है कि अब वक्त आ गया है कि भारत-चीन के बीच हुई हथियार न चलाने की संधि पर पुनर्विचार किया जाए। उन्होंने कहा चीन को चेतावनी दे देनी चाहिए कि अब आपको यह सन्धि बचा नहीं पाएगी। उन्होंने सरकार से अनुरोध किया है कि यदि चीन हमला करता है तो सेना के हाथ खोल दिए जाएं। उन्होंने साफ किया है कि धक्का-मुक्की दोस्तों के साथ होती है दुश्मनों के साथ नहीं। एक कार्यक्रम में शामिल होने रिटायर्ड जनरल जीडी बख्शी जबलपुर पहुंचे थे।

रिटायर्ड जनरल जीडी बख्शी  ने दी नसीहत

रिटायर्ड जनरल जीडी बख्शी  ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी का नाम लिए बगैर ही उन्हें नसीहत दी है। उन्होंने कहा है कि भारत की फौज के लिए पिटने जैसे शब्दों का इस्तेमाल दुर्भाग्यपूर्ण हैं जबकि जबकि वह हकीकत से वाकिफ नहीं है उन्होंने उल्टा सवाल दागा है कि क्या राहुल गांधी भारतीय सेना का शौर्य और साहस देखने सीमा पर गए हैं, जो फौज के लिए पिटने जैसे शब्दों का इस्तेमाल कर रहे हैं, उन्होंने कहा है कि राष्ट्रीय सुरक्षा के मामलों में सब को एकजुट होना चाहिए, रिटायर्ड जनरल जीडी बक्शी ने चीन की विस्तार वादी सोच को भी जमकर आड़े हाथों लिया उन्होंने साल 1959 का जिक्र करते हुए कहा है कि जब भी चीन में गदर मचती है तो चीनी सरकार ध्यान भटकाने के लिए हमलों और दूसरे देश की जमीनों पर कब्जे जैसी रणनीति पर काम करना शुरू कर देती है। इस समय चीन कोरोना की भीषण महामारी का सामना कर रहा है बावजूद इसके चीन अपना घर देखने के बजाय आक्रामक तेवर दिखा रहा है।

जबलपुर से संदीप कुमार की रिपोर्ट