रिश्वत

जबलपुर, संदीप कुमार। जबलपुर लोकायुक्त पुलिस ने शुक्रवार को पाटन तहसील में कार्यवाही करते हुए राजस्व निरीक्षक को 1000 रुपये की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। आरोपी राजस्व निरीक्षक बंदूक लाइसेंस के सत्यापन के लिए रिश्वत की मांग कर रहा था तभी लोकायुक्त पुलिस ने उसे रुपए लेते हुए धर दबोचा।

IAS का फर्जीवाड़ा, पुलिस ने जब्त किया रिकॉर्ड, जल्द होगी कार्रवाई

कार्यालय में ही ले रहा था रिश्वत
जबलपुर लोकायुक्त पुलिस के मुताबिक राजस्व निरीक्षक रमेश किरार पाटन तहसील में पदस्थ है और वह आवेदक रोहित रजक से उसकी बंदूक लाइसेंस की सत्यापन रिपोर्ट भेजने के लिए काफी दिनों से रिश्वत की मांग कर रहा था। इसकी शिकायत रोहित रजक ने जबलपुर लोकायुक्त पुलिस से की तब पुलिस ने राजस्व निरीक्षक रमेश किरार को रंगे हाथों पकड़ने की योजना बनाई।

रुपए लेते ही रमेश किरार के हाथ हो गए लाल
जबलपुर लोकायुक्त ने योजनाबद्ध तरीके से आवेदक रोहित रजक को रिश्वत के 1000 रुपये दिए जिसके बाद रोहित रुपए लेकर राजस्व निरीक्षक रमेश किरार के पास पहुंचा। जैसे ही उसने रुपए लिए मौके पर पहुंची जबलपुर लोकायुक्त की पुलिस ने उसे रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया।

कार्रवाई होते ही पाटन तहसील में मचा हड़कंप
रोहित रजक की शिकायत पर जैसे ही जबलपुर लोकायुक्त पुलिस ने राजस्व निरीक्षक रमेश के रहर को रिश्वत के 1000 रु. लेते गिरफ्तार किया वैसे ही पाटन तहसील में हड़कंप मच गया। लोकायुक्त की इस कार्यवाही में डीएसपी दिलीप झरबड़े, निरीक्षक कमल सिंह उईके, निरीक्षक भूपेंद्र दीवान, निरीक्षक नरेश बहरा, आरक्षक राकेश विश्वकर्मा ,जीत सिंह, अतुल श्रीवास्तव और जावेद खान मौजूद रहे।