Jabalpur News: रनिंग स्टाफ से की मारपीट, रेलवे एम्पलाईज यूनियन ने जताया विरोध

jabalpur-railway-station

जबलपुर,डेस्क रिपोर्ट। पश्चिम मध्य रेलवे और दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे बिलासपुर जोन के अंतर्गत जबलपुर और शहडोल के रनिंग स्टाफ के बीच मंगलवार को टकराव की स्थित बन गई। टकराव की स्थिति तब बनी जब साउथ ईस्टर्न सेंट्रल रेलवे  बिलासपुर मंडल के शहडोल स्टेशन पर जबलपुर से ट्रेन लेकर पहुँचे। रनिंग स्टाफ के साथ अभद्रता के बाद मारपीट की गई। जैसे ही घटना की जानकारी जबलपुर मंडल में पहुँची तो रनिंग स्टाफ गुस्से में आ गया और इस बात पर नारेबाजी शुरू कर दी।

मामले की जानकारी जैसे ही वेस्ट सेंट्रल रेलवे एम्पलाईज यूनियन को मिली। तो वह गाँधीवादी तरीके से विरोध करते हुए जबलपुर रेलवे स्टेशन पर पहुँचे। इसके बाद अंबिकापुर एक्सप्रेस के गार्ड को हटाकर जबलपुर का स्टाफ लगवाया और उन्हें पुष्पगुच्छ भेंट किए।

ये भी पढ़े-Budget 2021-22: कर्मचारी नेता का दावा,आंकड़ों के नाम पर प्रदेश भर के कर्मचारियो को भ्रमित कर रही सरकार

इस बात पर जब यूनियन के मंडल सचिव नवीन लिटोरिया और मंडल अध्यक्ष बीएन शुक्ला से बात कि तो उन्होंने बताया कि जबलपुर का रनिंग स्टाफ, जिसमें लोको पायलट निरंजन बर्नवाल, एएलपी रवि चंद्रवंशी पहली ट्रिप पर शहडोल से जबलपुर अंबिकापुर ट्रेन को लाने के लिए पहंचे, वहां रनिंग स्टाफ के साथ अभद्रता और उनके साथ मारपीट की गई।
साथ ही उन्होंने बताया कि रनिंग स्टाफ के साथ किए गए अभद्र व्यवहार की शिकायत डीआरएम संजय विश्वास सहित अन्य रेल अधिकारियों से की गई है। साथ ही यह चेतावनी भी दी गई है कि इस तरह की गुंडागर्दी को बर्दाश्त अब आगे नहीं किया जाएगा।

श्री लिटोरिया ने बताया कि यह पूरा मामला ट्रेन संचालन के अधिकार क्षेत्र से जुड़ा हुआ है। पिछले दिनों जब पमरे जबलपुर और दपूमरे के बिलासपुर जोन द्वारा संयुक्त रूप से निर्णय लिया गया था कि दोनों मंडलों के रनिंग स्टाफ को समान दूरी तक ट्रेन का संचालन का अवसर दिया जाएगा। जिसका यूनियन ने उसी समय यह कहते हुए विरोध किया था कि इससे विवाद की स्थिति पैदा होगी लेकिन रेल मंडल के अधिकारी नहीं माने, जिसका नतीजा आज रनिंग स्टाफ की मारपीट की घटना के रूप में सामने आया है।