जबलपुर/संदीप कुमार

कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए वैसे तो सेंट्रल जेल जबलपुर में तमाम तरह के इंतजाम किए गए हैं, लेकिन अब सेंट्रल जेल गेट पर ही ऑटोमेटिक सेनेटाइज़र शावर लगाया है। इस सेनेटाइज़र शावर को जबलपुर के ही एक इंजीनियर ने स्थानीय तौर पर तैयार किया है। मात्र 6000 रुपये की लागत से तैयार इस सेनेटाइजर शावर के नीचे से गुजरने पर केमिकल का शरीर के ऊपर छिड़काव हो जाता है जिससे वायरस समाप्त हो जाते हैं।

सेंट्रल जेल के गेट पर ही यह स्वदेशी सेनेटाइजर शावर लगाया गया है और जेल के अंदर और बाहर जाने वालों को इस सेनेटाइजर के नीचे से होकर गुजरना पड़ता है जिससे वे पूरी तरह से संक्रमण मुक्त हो जाते हैं। सुरक्षा की दृष्टि से सेंट्रल जेल के लिए व्यवस्था बेहद जरूरी है क्योंकि जबलपुर सेंट्रल जेल में लगभग 3500 से ज्यादा बंदी है ऐसे में किसी भी तरह का संक्रमण फैलने से स्थिति भयावह हो सकती है। इसे रोकने के लिए पहले से ही कई तरह की व्यवस्थाएं की गई थी। जेल अधीक्षक गोपाल ताम्रकार ने बताया कि उन्हें जानकारी मिली थी कि जबलपुर का एक युवा इंजीनियर स्वदेशी तकनीक से इस तरह के सेनेटाइजर बना रहा है इस पर उन्होंने तुरंत संपर्क करके सेंट्रल जेल में स्वदेशी सेनेटाइजर शावर लगाने के लिए कहा अब यह सेनेटाइजर शावर केमिकल का छिड़काव कर रहा है जिससे सभी लोग सुरक्षित रहेंगे।