संस्कारधानी जबलपुर को मिला ओशो महोत्सव के आयोजन का मौका,देश-विदेश से आएंगे भक्त

जबलपुर| देश में पहली बार ओशो महोत्सव का कार्यक्रम किया जा रहा है और आयोजन का सौभाग्य प्राप्त हुआ है, संस्कारधानी जबलपुर को। जहां पर आगामी 11 दिसंबर से लेकर 13 दिसंबर तक पूरी संस्कारधानी ओशोमय रहेगी। जिला प्रशासन ने इस कार्यक्रम के लिए तैयारी भी लगभग पूरी कर ली है।जबलपुर के तरंग ऑडिटोरियम में ओशो महोत्सव कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है।माना जा रहा है कि इस कार्यक्रम में ओशो के भक्त सिर्फ भारत से ही नहीं बल्कि विदेशों से भी आकर शिरकत करेंगे।

ओशो महोत्सव में परिचर्चा, व्याख्यान,ध्यान, संगीत नृत्य सहित फिल्म फेस्टिवल का आयोजन होगा।मध्यप्रदेश के अध्यात्म विभाग द्वारा जबलपुर जिला प्रशासन एवं जबलपुर टूरिज्म प्रमोशन काउंसिल के सहयोग से यह पूरा कार्यक्रम होगा। हालांकि यह महोत्सव अनहद कम्यून भोपाल ओशो इंटरनेशनल फाउंडेशन के संयोजन से हो रहा है। 11 दिसंबर को मां प्रेम पूर्णिमा के मार्गदर्शन में चक्र ध्यान के बाद ओशो की देशना पर व्याख्यान होगा। इसके अलावा 12 दिसंबर को देवताल स्थित ओशो आश्रम में संगीत ध्यान के कार्यक्रम होंगे। हमने आपको की देश में यह पहला मौका है जब ओशो महोत्सव तीन दिवसीय के लिए हो रहा है और जबलपुर को इस महोत्सव के लिए चुना गया हो।