जबलपुर।
ज्योतिष एवं शारदापीठाधीश्वर शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती की नरसिंहपुर जिले के सांकल घाट आश्रम में तबियत खराब हो गई, जिसके बाद उन्हें ईलाज के लिए जबलपुर लाया गया।जहां निजी अस्पताल (जबलपुर अस्पताल) में जांच कर रही डॉक्टरों की टीम ने शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती की हाइपरटेंशन के कारण हुई हालत और सांस लेने में हो रही तकलीफ को देखते हुए आईसीयू में भर्ती कराने की सलाह दी, जिसके बाद शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती को आईसीयू में भर्ती किया गया।जहा उनके सभी तरह के टेस्ट किए गए। हालाकि शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती के किए गए टेस्ट को रूटीन चेकअप बताया जा रहा है।

दरअसल शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती की कल देर शाम नरसिंहपुर जिले के सांकल घाट आश्रम में मौजूद थे, उसी वक्त उनकी हाइपरटेंशन के चलते तबियत बिगड़ गई और उन्हें कफ के कारण सांस लेने में भी तकलीफ होने लगी, जिसके बाद उनके शिष्यो ने उन्हें गोटेगांव में डॉक्टरों को दिखाया, जहां से डॉक्टरों ने उन्हें जबलपुर ले जाने की सलाह दी, जिसके बाद उन्हें ईलाज के लिए जबलपुर लाया गया..जिसमे डॉक्टरों ने पाया कि उनके सीने में बड़ी मात्रा में कफ जम गया था,  जिसकी वजह से शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती को सांस लेने में तकलीफ हो रही थी… हालाकि ये बताया जा रहा है कि शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती की सेहत में पहले से सुधार हो रहा है,लेकिन हॉस्पिटल में अभी भी डॉक्टरों की टीम उनकी निगरानी कर रही है।