सात समंदर पार कर मां नर्मदा के ग्वारीघाट पहुंचे साइबेरियन पक्षी

जबलपुर। सात समुंदर पार कर आने वाले साइबेरियन पक्षियों ने इन दिनों मां नर्मदा के ग्वारीघाट में डेरा डाला हुआ है। लगभग 1 महीने की लंबी यात्रा कर यह साइबेरियन पक्षी जबलपुर पहुंचे हैं। इन पक्षियों के आने से मां नर्मदा का ग्वारीघाट तट का नजारा पूरी तरह से बदल गया है। एक और जहां खुशनुमा मौसम के कारण मां नर्मदा की सैर करने वाले सैलानियों में खुशी का माहौल है तो वहीं विदेशी मेहमानों की मौजूदगी घाटों को और खूबसूरत बना देती है। पर इन सबसे अलग कुछ लोगों के चलते साइबेरियन पक्षियों की जान खतरे में भी आ गई है।

लिहाजा इसको देखते हुए जिला प्रशासन ने एक बड़ा कदम उठाया है।दर्शल मां नर्मदा की गोद में अठखेलिया कर रहे  इन साइबेरियन पक्षियों को कुछ लोग  गुनवतविहीन बेसन का सेव खिला रहे थे।जिला प्रशासन के पास एक शिकायत में यह साबित हुआ कि जो सेव इन साइबेरियन पक्षियों को खिलाया जा रहा है वह गुणवत्ता विहीन है जिसके चलते पक्षिया लगातार बीमार भी हो रहे थे इसको देखते हुए जिला प्रशासन ने ग्वारीघाटघाट के पास लगी सभी दुकानों में पक्षीयो के लिए सेव बेचने पर प्रतिबंध लगा दिया है। जिला प्रशासन ने दुकानदारों को निर्देश दिए है कि साइबेरियन पक्षियों को यह सेव  बिल्कुल न बेचा जाए। इधर स्थानीय लोग जहां यह मान रहे हैं कि कहीं ना कहीं इन साइबेरियन पक्षियों को सेव से नुकसान हो रहा था तो वही दुकानदारों ने जिला प्रशासन के  आदेश का पालन करते हुए पक्षियों के लिए सेव नहीं है का अपनी दुकानों के बाहर बोर्ड भी लगा दिया हैं।हालांकि कुछ लोग ऐसे हैं जो कि बाहर से सेव लाकर अभी भी पक्षियों को खिला रहे हैं।बहरहाल जिला प्रशासन के आदेश की अवहेलना अभी भी जारी है।हम आपको बता दे कि यह पक्षी जबलपुर में करीब 3 महीने तक रहेंगे और फिर वापस गर्मी आते ही साइबेरिया के लिए रवाना हो जाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here