नगर निगम के रडार पर सुपर मार्केट, टैक्स जमा करने का अंतिम मौका, होगी कुर्की

-Super-market-on-the-municipal-radar

जबलपुर| जबलपुर में सुपर मार्केट के दुकानदारों पर नगर निगम की नजरे टेढ़ी हो गई है… और इसकी मुख्य वजह है तीन सौ करोड़ की टैक्स वसूली का लक्ष्य लेकर चल रहे नगर निगम को सुपर मार्केट के दुकानदारों से 39 करोड़ 80 लाख रुपये से ज्यादा टैक्स के रूप में वसूलने है… जिसके लिए निगम ने तीन दिनों का अल्टीमेटम सुपर मार्केट के व्यापारियों को दिए है…दरअसल सुपर मार्केट के दुकानदारों को निगम ने नोटिस भेज दुकानों में किये गए अतिक्रमण के मुताबिक़ टैक्स जमा करने फरमान जारी किया है..जिसके तहत सुपर मार्केट में बनी 55 दुकानो के संचालको को टैक्स के रूप में 39 करोड़ की राशि निगम में तीन दिनों के अंदर जमा करनी है…और टैक्स की बकाया राशि का भुगतान न करने पर निगम ने दुकानदारों को खुद अपने अवैध अतिक्रमण हटाने का हुक्म दिया है…और ऐसा न करने पर निगम ने नोटिस की मियाद पूरी हो जाने के बाद सुपर मार्केट की दुकानों के अवैध निर्माणों को हटाने की चेतावनी दुकानदारों को दी है…दरअसल नगर निगम ने वर्ष 1954 में सुपर मार्केट के 55 दुकानदारों को 192 वर्गफीट क्षेत्रफल में एक-एक दुकान आवंटित की थी…उस वक्त दुकानों के आगे-पीछे 10 फिट फुटपाथ व कंजरवेंसी के लिए जगह छोड़ी गई थी…लेकिन दुकानदारों ने अवैध तरीके से उस जगह पर निर्माण कर लिया है..जिसे वैध कराने के लिए पूर्व में व्यापारियों को समाधान योजना के तहत नोटिस जारी कर अवैध निर्माण को वैध कराने लगभग 36 करोड़  रुपए जमा करने कहा गया था…लेकिन दुकानदारों ने योजना का लाभ नहीं उठाया था..और न ही राशि जमा की थी…और दुकानदारों ने हाईकोर्ट में अपील दायर की थी…जिस पर कोर्ट ने आदेश दिया था कि दुकानदार निगम में अपना प्रतिवेदन दें..जिसका निराकरण नगर निगम ने करते हुए दुकानदारों को टैक्स की बकाया राशि का भुगतान करने नोटिस जारी किया है..निगम अधिकारियो की माने तो 300 करोड़ की टैक्स वसूली में  अभी तक टैक्स के तौर पर महज 83 करोड़ रूपये की वसूली हो सकी है…जबकि सुपर मार्केट के दुकानदारो की बात की जाए तो निगम को यहां के 55 दुकानदारों से किसी दुकानदार से 1 करोड़ रुपये तो किसी से 50 लाख लेने है..।