कोर्ट के आदेश को हल्के में लेना तहसीलदार के लिए पड़ा भारी, गिरफ्तारी वारंट जारी

जबलपुर, डेस्क रिपोर्ट। बार बार समय देने के बावजूद कोर्ट में गवाही के लिए मौजूद न होना तहसीलदार को महंगा पड़ गया है। अपर सत्र न्यायाधीश गौतम कुमार गुजरे की अदालत ने महिला तहसीलदार रश्मि चतुर्वेदी के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी कर दिया है।

यह भी पढ़े.. भोपाल : अवैध रेत उत्खनन मामले को लेकर कांग्रेस विधायक ने सरकार पर बोला हमला, देखें वीडियो

दरअसल एक मामले में बार-बार समय दिए जाने के बावजूद गवाही के लिए तहसीलदार रश्मि चतुर्वेदी अदालत मे हाजिर नहीं हो रही थी, लगातार अदालत में हाजिर होने के आदेश के बावजूद तहसीलदार रश्मि चतुर्वेदी जब कोर्ट नहीं पहुंची तो कोर्ट ने रश्मि के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी कर दिया है। आगामी पेशी तिथि 13 जनवरी को हाजिरी सुनिश्चित कराने निर्देश दिए गए हैं। बताया जा रहा है कि जबलपुर के कोतवाली थाने में दर्ज एक अपराध का मामला है और इस मामले में तहसीलदार चतुर्वेदी अहम गवाह हैं। अदालत में उनकी गवाही होनी हैइसके लिए पूर्व में बार-बार समय दिया गया। जमानती वारंट तक जारी हुआ। लेकिन वे हाजिर नहीं हुईं। इस वजह से मामले का पटाक्षेप संभव नहीं हो पा रहा है। बार बार हाजिर होने के आदेश को जब तहसीलदार ने नहीं माना तो  अदालत ने कड़ा रुख अपनाते हुए गिरफ्तारी वारंट जारी कर दिया।