देश में पहली बार हुआ इन स्टेशनों पर एरयपोर्ट जैसी सुविधाओं का प्रयोग

these-railway-station-providing-airport-like-facility

जबलपुर। पश्चिम मध्य रेलवे देश का पहला ऐसा जोन बन गया है जो कि एयरपोर्ट की तर्ज पर यात्रियों को सुविधा देने का काम करने लगा है। जिस तरह से एयरपोर्ट पर प्लेन से यात्रियों को नीचे उतारने और चढ़ाने के लिए मोबाइल सीढ़ियों का उपयोग किया जाता है। उसी तरह से पश्चिम मध्य रेलवे ने भी कुछ स्टेशन में इनको रखने की शुरुआत कर दी है। पमरे ने भोपाल रेल खंड के चाचौड़ा रेल्वे स्टेशन में यात्रियों को सुविधा देना शुरू कर दी है।

दरअसल पश्चिम-मध्य रेलवे में कुछ ऐसे स्टेशन भी हैं जो कि लो लेवल प्लेटफार्म हैं. जहां यात्रियों को चढ़ने-उतरने में खासा परेशान होना पड़ता है. खास तौर पर महिलाओं और बुजुर्ग को. वहीं ज्यादा ऊंचाई होने के चलते कई बार यात्रियों का ट्रेन से गिरने का खतरा भी बना रहता है. लिहाजा यात्रियों की सुविधा के लिए रेलवे ने प्रयास किया है कि एयरपोर्ट की तर्ज पर ऐसे स्टेशनों में चलित सीढ़ी रखी जाए जिसका उपयोग कर यात्री नीचे उतर सके। शुरुआती दौर में पश्चिम मध्य रेलवे ने भोपाल मंडल के चाचौड़ा रेलवे स्टेशन में इस सीढ़ी को रखा है. अगर ये प्रयास सफल हुआ तो आने वाने समय मे ऐसे सभी स्टेशनों में इसे रखा जाएगा जहां पर की प्लेटफार्म से ट्रेन की ऊंचाई ज्यादा है। इस प्रयोग को लेकर पश्चिम मध्य रेलवे की मुख्य जनसंपर्क अधिकारी प्रियंका दीक्षित का कहना है कि पूरे देश मे ये इस तरह का पहला प्रयोग है. सीपीआरओ की माने तो पश्चिम मध्य रेलवे जोन में अभी भी कई ऐसे स्टेशन हैं जहां पर की लो लेवल प्लेटफार्म है. ऐसे स्टेशनों में अब चलित मोबाइल सीढ़ी रखने का प्रयोग शुरू कर दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here