रिश्वत लेते जेडी सहित तीन चढ़े लोकायुक्त के हत्थे, विभाग की महिला चपरासी से ही मांगे थे 21 हजार

जबलपुर, संदीप कुमार। जबलपुर में लोकायुक्त ने संयुक्त संचालक लोक शिक्षण कार्यालय में पदस्थ जेडी, एकाउंटेंट और लेखापाल को 21 हजार की रिश्वत लेते पकड़ा है। रिश्वत की यह रकम कार्यालय में पदस्थ महिला भृत्य से मांगी गई थी। दरअसल कार्यालय से 26 अगस्त को तीन कम्प्यूटर चोरी हो गए थे। महिला भृत्य से चोकीदारी का काम लिया जा रहा है। चोरी को उसकी लापरवाही बताते हुए विभागीय कार्रवाई का डर दिखा रहे थे।

दिल तो बच्चा है जी: 62 साल के पिता को 59 साल की प्रेमिका के साथ होटल में बेटे ने पकड़ा, जमकर हुआ हंगामा

लोकायुक्त में संयुक्त संचालक लोक शिक्षण कार्यालय परिसर में भृत्य मां अनीशा बेगम के साथ रहने वाले मोहम्मद गुलजार ने 08 अक्टूबर को रिश्वत मांगने की शिकायत की थी। गुलजार ने बताया था कि 26 अगस्त को कार्यालय से तीन कम्प्यूटर चोरी हो गए थे। जिसके बाद एफआईआर बेलबाग थाने में दर्ज कराई गई थी,लेकिन जेडी राममोहन तिवारी महिला को धमका रहे थे चोरी हुए कम्प्यूटर के मामलें में पूरी गलती उसकी है और इसके चलते उस पर कार्रवाई हो सकती है उसका सरकारी घर खाली करवा लिया जाएगा, और इस कार्रवाई को रुकवाने के एवज में जेडी 21 हजार रुपये मांग रहा था, शिकायत के बाद मंगलवार को लोकायुक्त ने 21 हजार रुपये की रिश्वत लेते एकाउंटेंट अशोक, लेखापाल संतोष भटेले को पकड़ लिया, और दोनों के बयान के आधार पर जेडी राम मोहन तिवारी को पकड़ा, तीनों के खिलाफ रिश्वत लेने, भ्रष्टाचार निवारण की धाराओं में प्रकरण दर्ज किया गया है।