मनचलों को सबक सिखाने सिविल ड्रेस में घूमेगी ‘कोड रेड’, वीडियो बनाकर घरवालों को दिखाएंगे

To-teach-the-lesson-to-bad-minds

जबलपुर।

स्कूल-कालेज खुलते ही इनके आसपास सड़क छाप मजनू छात्राओं को छेड़ने के लिए मंडराने लगते है। अब अगर कोई भी सड़क छाप मजनू घूमते दिखा तो उसे सबक सिखाने के लिए जबलपुर पुलिस की कोड रेड टीम तैयार है। कोड रेड की टीम स्कूल-कालेज के आसपास सिविल ड्रेस में तैनात रहेगी और छेड़छाड़ करने वाले को न सिर्फ मौके पर ही सबक सिखाएगी, बल्कि उनकी वीडियो बनाकर उनके परिजनों को भी दिखाएगी। 

जबलपुर एसपी अमित सिंह की निगरानी में ये टीम रहेगी और त्वरित कार्यवाही कर इसकी सूचना एसपी को देगी। दर्शल हाल के दिनों में जबलपुर में छेड़खानी के मामले में कुछ वृद्धि हुई है जिसको लेकर एसपी अमित सिंह ने पुलिस कोड रेड को स्कूल-कालेजो के आसपास सिविल ड्रेस में तैनात रहने के निर्देश दिए है। एसपी अमित सिंह की माने तो आमतौर पर स्कूल-कालेज अथवा राह चलती युवती-किशोरियों के साथ अभद्रता या छीटाकशी की जाती है। जिससे कि महिलाएं और छात्रा अपने आपको असुरक्षित महसूस भही करती है पर अब जबकि शहर के ऐसे इलाके जहाँ पर की मजनूओं का जमावड़ा लगा रहता है और ये युवती-छात्राओं के साथ छेड़खानी करते है तो अब सिबिल ड्रेस में तैनात कोड रेड पुलिस इन पर कार्यवाही करेगी।

इसके साथ साथ इनकी कारस्तानी की वीडियो बनाकर इनके परिजनों को भी दिखाया जाएगा। सिविल ड्रेस में खड़ी महिला ‘कोड रेड’ पुलिस की मदद के लिए कुछ ही दुरी पर पुलिस की एक टीम मौजूद रहेगी।