फटे बारदानों से परेशान किसान, धान भरने में दिक्कत

Troubled-Farmers-for-Filling-Paddy

जबलपुर| धान खरीदी केंद्रों के किसानो को जो बारदाने दिये जा रहे है वो ज्यादातर फटे निकल रहे है यही वजह है कि पहले से परेशान किसानों के सामने अब फटे हुए बारदाने की समस्या आ गई है। जिले की ज्यादातर सोसायटी केंद्र में कमोवेश यही स्थिति है जहाँ पर की किसानों को फटे हुए बारदाने बाटे गए है।खुले में रखी धान जल्द से जल्द वेयर हाउस पहुँच जाएं हर किसान यही चाह रहा है पर फटे हुए बारदाने मिलने के चलते किसानों के सामने अपनी धान खरीदी केंद्रो में बेचने में समस्या आ रही है।इधर किसानों के साथ साथ पल्लेदार भी परेशान है।फटे हुए बारदाने होने के चलते पल्लेदार भी उसे सिलते सिलते थक गए है।पहले जहाँ दिन भर में करीब 500 बारदाने सिल जाया करते थे वही अब 200 बारदाने ही दिन भर में सिल पा रहे है।वही बारदाने की समस्या को लेकर जिला नागरिक आपूर्ति अधिकारी का कहना है कि शासन के निर्देश अनुसार 50%सही बारदाने जबकि 50% राइस मिलर से पुराने बारदाने दिए जाने का प्रवधान है।हाल ही में दूसरे जिलों से भी बारदाने लाकर बाटे भी गए है।