मुंबई से नेपाल तक साइकिल यात्रा कर पर्यावरण संरक्षण का सन्देश दे रहे यह दो शख्स

two-person-giving-message-of-environmental-protection-by-going-cycling-from-Mumbai-to-Nepal

जबलपुर| उम्र 81 साल की बावजूद इसके पर्यावरण संरक्षण का संदेश देने के लिए हजारो किलोमीटर साइकिल चलाना सुनने में ये जरूर अजीब लगेगा। पर ये हकीकत है। महाराष्ट्र के दो बुजुर्ग पर्यावरण संरक्षण और साइकिल चलाने के लिए युवाओ को प्रोत्साहित करने पूना से नेपाल तक साइकिल यात्रा कर रहे है। मुम्बई में रहने वाले 81 साल के बुजुर्ग गोविंद भास्कर अपने 62 साल के साथी प्रकाश पाटिल के साथ नेपाल तक कि साइकिल यात्रा पर निकले है। दोनो बुजुर्गों आज साइकिल से जबलपुर पहुँचे जहाँ उन्होंने मीडिया से बात करते हुए बताया कि 81 साल की उम्र में भी हम लोग आसानी से साइकिल चला लेते है जिसकी वजह ये है कि बचपन से ही साइकिल चला रहे है। 

उन्होंने कहा कि पर्यावरण संरक्षण और ज्यादा से ज्यादा पौधे लगाने के लिए हम लोगो को प्रेरित कर सके यही हमारी यात्रा का उद्देश्य है। महाराष्ट के मुम्बई से शुरू हुई यात्रा 4 जून को नेपाल में खत्म होगी।इधर गोविंद के साथी प्रकाश पाटिल  ने भी अपनी यात्रा के दौरान लोगो से अपील की है कि कम से कम सप्ताह में एक दिन सभी लोगो को साइकिल जरूर चलानी चाहिए जिससे न सिर्फ पर्यावरण संरक्षण होगा बल्कि ईंधन भी बचेगा।81ओर 62 साल की उम्र में शान से साइकिल चला रहे दोनो बुजुर्गों को जो भी देखता बस देखते रह जाता।बहरहाल गोविंद भास्कर ओर प्रकाश पाटिल जबलपुर में कुछ देर ठहरने के बाद आगे के लिए रवाना हो गए।