जबलपुर की व्हीकल फैक्ट्री बांग्लादेश को सप्लाई करेगी शक्तिशाली वाहन

जबलपुर, संदीप कुमार। जबलपुर स्थित व्हीकल फैक्ट्री अब भारतीय सेना के अलावा पड़ोसी देश बंग्लादेश को भी शक्तिशाली वाहन बना कर देगी। बंग्लादेश सरकार का 4 सदस्यीय दल बुधवार को जबलपुर पहुँचा जहाँ उन्होंने व्हीकल फैक्ट्री  में बनने वाली सुरंग रोधी वाहन(mpv) को देखा। यह वाहन उन्हें इतना पसंद आया कि इसे देखते ही उनके मुँह से सिर्फ वाह शब्द ही निकला। बंग्लादेश से आए सैन्य अधिकारियों ने mpv वाहन की उत्पादन प्रक्रिया भी देखी।

बाढ़ प्रभावित गांवों के लोगों ने लगाया सर्वे में धांधली का आरोप, कलेक्टर को ज्ञापन

अभी भारतीय सेना के पास है यह शक्तिशाली वाहन
सुरंग रोधी वाहन (mpv) अभी भारतीय सेना के पास है। यह वाहन इतना शक्तिशाली है कि इसमें बारूद का जरा भी असर नही पड़ता है। इतना ही नहीं, इस वाहन के कांच भी बुलेट प्रूफ है। इस वाहन में 12 सैनिकों के बैठने की क्षमता है जिसे जबलपुर की व्हीकल फैक्ट्री बना रही है।

बंग्लादेश से आए दल ने की mpv की सावरी
बंग्लादेश से 4 सदस्यी सैन्य अधिकारियों के दल ने mpv वाहन को परखने के बाद इसमें बैठकर सवारी भी की। साथ ही ग्राउंड पर वाहन के फीचर्स को भी परखा। अब यह टीम अपनी रिपोर्ट बंग्लादेश सरकार को देगी जिसके आधार पर रक्षा मंत्रालय के साथ वाहनों की सप्लाई के लिए समझौता होगा।

आतंकवाद-नक्सली क्षेत्र में होगी वाहन से गश्ती
बताया जा रहा है कि आतंकवाद और नक्सली इलाकों में यह वाहन बहुत ही कारगार साबित हो सकता है। यह वाहन दुश्मनों के द्वारा जमीन पर बिछाई गई सुरंग से जवानों की रक्षा करता है साथ ही कई किलो बारूद के विस्फोट को सहन कर सकता है। ये वाहन दुश्मनों की गोलीबारी को भी सहन कर सकता है।

कुछ इस तरह की खूबियों से लैस है यह वाहन-
* शक्तिशाली आर्मर्ड शीट से वाहन का निर्माण
* वाहन के कांच के साथ टायर भी बुलटप्रूफ
* कई किलो बारूद के विस्फोट को सहने की क्षमता
* सुरक्षा के लिए ‘वी’ शेप में हल का निर्माण
* ड्राइवर सहित 12 सैनिकों को बैठने की व्यवस्था
* एयरकूल्ड, नाइट विजन कैमरा जैसी नई तकनीक
* दुश्मन पर जवाबी कार्रवाई के लिए 10 फायरिंग पोर्ट
* सेना, अद्र्धसैनिक बल एवं राज्य पुलिस करती हैं उपयोग
* 60 से 85 किमी प्रति घंटा स्पीड, 11 टन वजन