Jabalpur : नौकर को निकालना पड़ा महंगा, बेटे को झूठे केस में फंसाया, पैसों की डिमांड

जबलपुर, संदीप कुमार। जबलपुर में एक व्यापारी को नौकर (servant) को नौकरी से निकालना इतना महंगा पड़ गया कि अब उसे पुलिस की शरण लेनी पड़ी है। नौकर व्यापारी को परेशान करने में लगा हुआ है, परेशान व्यापारी ने अपने परिवार को बचाने के लिए पुलिस से गुहार लगाई फिलहाल वहां भी कोई सुनवाई नहीं हुई है।

आपराधिक मामलों में लिप्त थान नौकर
व्यापारी अनिल लंबा के मुताबिक उसकी राइट टाउन में चाय बार की शॉप है। उस दुकान में अनिल लंबा ने कपिल विश्वकर्मा नाम के व्यक्ति को काम पर रखा। करीब एक साल बाद जब अनिल लंबा को पता चला कि कपिल के खिलाफ कई थानों में आपराधिक मामले दर्ज है तो उन्होंने उसे काम से निकाल दिया। ये बात कपिल को इतना नागवार गुजरी कि उसने अपने साथी वीरू सेन के साथ मिलकर अनिल लंबा के बड़े बेटे प्रिंस के खिलाफ मदन महल थाने में षडयंत्र पूर्वक धारा 109-114-147-326 के तहत मामला दर्ज करवा दिया, जिसके बाद व्यापारी ने अपने बेटे की सेशंन कोर्ट से अग्रिम जमानत करवाई।

घटना के बाद से डरा सहमा है परिवार
व्यपारी अनिल लंबा ने बताया कि इस घटना के बाद से उनका पूरा परिवार सदमे में है। इसके बाद भी कपिल का लगातार फोन कर परेशान करने का सिलसिला जारी है। व्यापारी ने बताया कि अभी भी कपिल और उसके साथी फोन पर धमकी दे रहे है कि अगर सात लाख रुपये नहीं दिए तो प्रिंस को नारकोटिक्स एक्ट में फंसवा देंगे।

एसपी ने दिया व्यापारी को उचित कार्रवाई का आश्वासन
पीड़ित परिवार को लगातार धमकी मिल रही है जिसके बाद व्यापारी अनिल लंबा ने एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा को भी लिखित शिकायत दी है कि कपिल और उसके साथी वीरू के द्वारा उसके बेटे को झूठे मामले में फंसाने की धमकी मिल रही है। इस पर की एसपी ने उन्हें उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया है।