जब प्रेमी के साथ मिलकर जबलपुर की महिला प्रोफेसर ने डीन पर चलवाई गोलियां

जबलपुर, डेस्क रिपोर्ट।  जबलपुर की रहने वाली एक महिला प्रोफेसर ने डीन पद पाने के पागलपन में ऐसा कदम उठा लिया कि अब पुलिस उसे तलाशती फिर रही है, दरअसल जबलपुर के बेहद सम्पन्न परिवार की आरती भटेले मेरठ की सरदार वल्लभ भाई पटेल कृषि एवं प्रौद्योगिकी यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर है, कुछ दिनों पहले इसी यूनिवर्सिटी के डीन प्रो राजवीर सिंह पर जानलेवा हमला हुआ, उन्हे सात  गोलियां मारी गई, हालांकि हादसे में उनकी जान बच गई, पुलिस ने जब इस मामलें की जांच करवाई तो सामने आया कि कालेज की ही प्रोफेसर आरती भटेले ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर सुपारी देकर डीन पर हमला करवाया है, प्रेमी के साथ मिलकर एक शूटर को 5 लाख की सुपारी देने वाली महिला प्रोफेसर जबलपुर के वेटरनरी कॉलेज में पढ़ी है और 2014 में कृषि विवि में पदस्थ हुई थीं। डीन पर प्राणघातक हमला कराने के बाद से महिला प्रोफेसर फरार हैं, उसकी तलाश में पुलिस की एक टीम जबलपुर आई है।

यह भी पढे… MP: शिवराज सरकार का हितग्राहियों को बड़ा तोहफा, योजना के तहत खाते में भेजी गई 20 करोड़ रुपए की राशि

हमले के बाद फरार

आरती हमले के बाद से फरार है, वेटरनरी कॉलेज की महिला प्रोफेसर आरती भटेले का मायका जबलपुर में है। उनके पिता पुलिस विभाग में बड़े पद पर पदस्थ रह चुके हैं। वहीं एक भाई जबलपुर में डॉक्टर हैं। आरती भटेले के इस घटना में शामी होने की बात ने उनके परिवार को भी चौंका दिया है,  बताया जाता है कि आरती वकील के माध्यम से कोर्ट में अग्रिम जमानत की अर्जी लगा चुकी हैं। मामले की सुनवाई 30 मार्च को है, आरती का मोबाइल भी बंद है।

यह भी पढ़ें… अमेरिका ने एक भारतीय को सौंपी बड़ी जिम्मेदारी, संभालेंगे दुनिया की इस बड़ी कंपनी की कमान

इस तरह हुआ था घटनाक्रम 

सरदार वल्लभ भाई पटेल कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के पशु चिकित्सा एवं पशु विज्ञान महाविद्यालय मेरठ के डीन  प्रो. राजवीर सिंह बागपत में हेवा गांव के रहने वाले हैं। वह कंकरखेडा के डिफेंस कॉलोनी में परिवार के साथ रहते हैं। वे कृषि विश्वविद्यालय के वेटनरी कॉलेज में डीन (संकाय अध्यक्ष) के पद पर हैं। 11 मार्च की शाम वह कॉलेज से अपने घर जा रहे थे और जैसे ही दौराला थाना क्षेत्र में मोदीपुरम कृषि यूनिवर्सिटी के पास पहुंचे, तभी बाइक सवार बदमाशों ने प्रोफेसर की कार रु कवाते हुए उन पर पिस्टल से दनादन गोलियां बरसा दीं। राजवीर सिंह को सात गोलियां लगीं, लेकिन उनकी जान बच गई है। इस मामलें में पुलिस ने बेहद गंभीरता दिखाई, लेकिन जब जांच में खुलासा हुआ तो पुलिस भी हैरान रह गई, 22 मार्च को एसएसपी मेरठ प्रभाकर चौधरी ने खुलासा करते हुए बताया कि विश्वविद्यालय की प्रोफेसर आरती भटेले ने अपने प्रेमी अनिल बालियान के साथ मिलकर हमला कराया था। राजवीर की मौत के बाद प्रोफेसर आरती खुद डीन बनना चाहती थीं। 50 साल की प्रो. आरती भटेले मध्यप्रदेश की रहने वाली हैं। वह 2014 में कृषि विश्वविद्यालय में आईं थीं, पति से तलाक हो चुका है। यहां आरती की पहचान प्रापर्टी डीलर अनिल बलियान से हुई।

यह भी पढ़ें… MP : सरकार की बड़ी तैयारी, मालवा जिले को जल्द मिलेगी बड़ी सौगात

आरती अनिल से उस वक़्त संपर्क में आई जब अनिल अपनी बेटी का एडमिशन कराने 2014 में आरती के कालेज पहुंचा, जहां बेटी के एडमिशन के बाद दोनों में बातचीत होने लगी और यही बातचीत प्रेम संबंधों में बदल गई, जिसके बाद अनिल के घर में भी आरती को लेकर विवाद हो गया और उसकी पत्नी अलग रहने लगी, वही बताया जा रहा है कि आरती की शादी हो चुकी है लेकिन उसका तलाक हो चुका है। आरती ने अनिल को डीन को मारने की सलाह दी, दरअसल आरती ने अनिल को बताया कि अगर वो डीन को रास्ते से हटा देगा तो आरती फिर डीन बनेगी और अनिल की बेटी को वह कालेज में ही नौकई पर रखवा देगी।

जिसके बाद अनिल बलियान ने अपने साथी प्रॉपर्टी डीलर मुनेंद्र बाना को भी साथ ले लिया। मुनेंद्र हापुड के चितौली गांव का प्रधान है। 11 मार्च को आरती ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर डीन राजवीर सिंह पर हमला कराया। इसक लिए बाकायदा शूटर्स को 5 लाख दिए गए। मोबाइल की कॉल डिटेल और सीसीटीवी फुटेज से पुलिस आरोपियों तक पहुंच सकी। पुलिस ने मामले में अनिल बालियान, मुनेन्द्र बाना और शूटर नदीम निवासी हसनपुर थाना हाफिजपुर जनपद हापुड़ को गिरफ्तार कर लिया है।