कौन फैला रहा कर्फ्यू की अफवाह, कलेक्टर ने किया खंडन

जबलपुर| संदीप कुमार| यह सरासर गलत एवं निराधार है कि जबलपुर में दिनांक 23 मई 2020 से 03 दिन के लिये कर्फ्यू अर्थात कम्पलीट लाॅकडाउन रहेगा, मेडीकल स्टोर के अलावा किसी भी प्रकार की कोई दुकान नहीं खुलेंगी। ये कहना है कलेक्टर भरत यादव का। एसपी के साथ मीटिंग कर उन्हें ये स्पष्ठ किया है कि कही कोई कर्फ्यू नही है।कलेक्टर ने बताया कि कर्फ्यू लगाने की बात पूर्णतः असत्य एवं निराधार है, इस प्रकार की अफवाह आमजन में फैलाने वालों एवं शहर की फिजा बिगाड़ने वालों के सम्बंध मे पतासाजी हेतु सायबर सेल की टीम को एवं सादे कपड़ों में पुलिस स्टाफ को लगाया गया है, अफवाह फैलाने वालो के विरूद्ध सख्त कार्यवाही की जावेगी। कृपया अफवाहों पर ध्यान न दें रोजाना की तरह ही, व्यवस्थायें रहेंगी । जबलपुर संस्काधानी के लोग इस कोविड-19 कोरोना वायरस संक्रमण रूपी महामारी में भी एक दूसरे का सहयोग करते हुये इस संकट की घड़ी में भी बेहतर ढंग से जीवन जी रहे हैं।

भरत यादव ने कहा कि सोशल नेटवर्किंग साईट, जैसे फेस बुक, वाट्सअप, ट्यूटर के माध्यम से असामाजिक/विध्नसंतोषी तत्वों द्वारा  आपत्तिजनक/भड़काउ पोस्ट एवं मैसिज भेजे जाते है, यह एक संज्ञेय अपराध है। आम नागरिकों से अपील की है कि इस प्रकार के वीडियो फुटेज एंव मैसिज को किसी और से न ही शेयर करें, न ही लाईक करें, कानून एवं शांति व्यवस्था बनाये रखने हेतु संस्कारधानी के एक जिम्मेदार नागरिक का परिचय देते हुये सोशल मीडिया मे पोस्ट की गयी  किसी भी पोस्ट की पुष्टि सम्बंधित थाना प्रभारी/नगर पुलिस अधीक्षक/अति. पुलिस अधीक्षक से करते हुये यदि आपको लगता है कि की गयी पोस्ट आपत्तिजनक/भड़काउ है तो इसकी सूचना तत्काल अपने सम्बंधित थाने को दें ताकि उसके विरूद्ध विधिसम्मत कार्यवाही की जा सके, किसी के बहकावे मे आकर अथवा किसी अफवाह के आधार पर एैसा कोई कदम न उठायें जिससे तनाव की स्थिति निर्मित हो।

जबलपुर की सायबर टीम के द्वारा निरंतर निगाह रखी जा रही है। सबंधित थाना प्रभारियो को नियमानुसार कार्यवाही करने हेतु निर्देशित किया गया हेंै। आपत्तिजनक  वीडियो फुटेज शेयर करने पर यदि कानून व्यवस्था की स्थिति निर्मित हुई तो सम्बंधित के विरूद्ध एन.एस.ए. की कार्यवाही की जावेगी।