जबलपुर। 

 रांझी थाना के चंपानगर मे हुई ह्रदयविदारक घटना से समूचा क्षेत्र में मातम पसर गया है।यहां पर 32 साल की एक महिला ने पहले तो अपनी 3 साल की बच्ची की गला घोंटकर कर हत्या कर दी और फिर स्वयं फांसी पर लटक कर खुद को मौत के गले लगा लिया।बताया जा रहा है कि मृतक महिला अपने पिता अवतार सिंह के साथ रहा करती थी। लंबी बीमारी के चलते एक दिन पहले ही मृतक महिला वंदना की मां का देहांत हुआ था जबकि उसका पति रमेश सिंह की 2 साल पहले हृदय गति रुक जाने के चलते मौत हो गई थी।पहले पति और फिर माँ की मौत के बाद से वंदना सदमे में थी।आज दोपहर अवतार सिंह किसी काम से बाहर जा रहा था तो उसने घर का दरवाजा बाहर से लगा दिया शाम को जब अवतार सिंह वापस आता है तो देखता है कि उसकी बेटी फाँसी पर लटकी हुई है जबकि उसकी नातिन पास के ही पलँग में मृत पड़ी हुई है।मूलता महोबा उत्तरप्रदेश का रहने वाला अवतार सिंह आयुध निर्माणी खमरिया में कार्य करता था और करीब 8 साल पहले सेवानिवृत्त होने के बाद एक जीप लेकर उसे किराए पर चलाता था।

तीन साल पहले आया था रांझी…

अवतार सिंह तीन साल पहले रांझी चम्पा नगर स्थित शैलेन्द्र सिन्हा के घर किराए का मकान लेकर रह रहा था।जानकारी के मुताबिक 2 साल पहले वंदना के पति रमेश सिंह की मौत हो गई थी वही करीब एक साल पहले उसका भाई सूरज सिंह भी लापता हो गया था।बताया ये भी जा रहा है कि पहले पति फिर भाई और फिर माँ की मौत के बाद वंदना सदमे में आ गई थी।फिलहाल सूचना के बाद रांझी थाना पुलिस सहित एफएसएल की टीम मौके पर पहुँच जाँच शुरू कर दी है साथ ही दोनो शव को पोस्टमार्टम के लिए मेडिकल कॉलेज भेज दिया गया है।