जबलपुर में रात को कर्फ्यू के दौरान युवक की गोली मारकर हत्या, आरोपी फरार

जबलपुर, संदीप कुमार

कोरोना वायरस के चलते रात 10 के बाद लगाए गए कर्फ्यू के दौरान अज्ञात हमलावरों ने बीच सड़क एक युवक की गोली मारकर हत्या कर दी और पुलिस को इसकी भनक ही नही लगी। घटना के बाद मृतक के परिजनों ने पुलिस को सूचना दी तक मौके पर एसपी और थाना पुलिस पहुँची। घटना गोरखपुर थाना के शारदा चौक की है जहाँ 30 साल के युवक अंकित चंडोक की गोली मारकर हत्या कर दी।हालांकि आरोपी के नाम भी सामने आए है जिन्हें पुलिस ने जल्द ही गिरफ्तार करने का दावा किया है।

जबलपुर में इन दिनों अपराध चरम सीमा पर पहुँच गया है, अपराधियो में पुलिस का ख़ौफ़ ही नही है। गोरखपुर थाना इलाके में बीती रात शारदा चौक के पास एक युवक की गोली मारकर हत्या कर दी गयी। बाइक पर आए आरोपी घटना को अंजाम देने के बाद मौके से फरार हो गया है।  पुलिस ने हत्या का प्रकरण दर्ज कर आरोपियों की तलाश कर रही है।

बताया जाता है की मृतक अंकित चंडोक लॉक डाउन लगने के बाद से रोजाना सड़को पर घूम रहे बेसहारा जानवरो को घूम-घूमकर सब्जिया खिलाया करता था। बुधवार की रात करीब 12 बजे जब वह सड़को के किनारे बैठे जानवरो को सब्जियां खिला रहा था तभी बाइक में सवार दो युवकों ने उस पर फायरिंग कर दी। गोली अंकित के सीने में लगी और मौके पर ही उसकी मौत हो गई। मृतक के पिता ने बताया कि अंकित की टैटू बनाने की शॉप है कुछ दिनों ने व्यापार को लेकर उसका एक युवक से विवाद भी चल रहा था। मृतक के पिता ने आशंका जाहिर की है कि संभवतः उन्होंने ही गोली मारी है।

इधर घटना के बाद एफएसएल की टीम सहित एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा भी मौके पर पहुंच गए। एसपी का दावा है कि हमलावरों में कुछ व्यक्तियों का नाम सामने आया है जिनसे जल्द ही पूछताछ कर हत्याकांड का खुलासा किया जाएगा। बहरहाल इस घटना के बाद से क्षेत्र में सन्नाया पसरा हुआ है। साथ ही पुलिस की कार्य प्रणाली पर सवाल भी उठ रहे  है कोरोना संक्रमण के चलते रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक कर्फ्यू लगा रहता है बावजूद इसके आखिर कैसे अपराधी खुलेआम घूमते हुए अपराध को अंजाम दे रहे हैं।