ना स्टू़डेंट ना प्रोफेसर……ऐसे कॉलेज का सोमवार को लोकार्पण करेंगे CM कमलनाथ

m-kamal-nath-to-inaugurate-the-college-which-is-not-yet-a-teacher-in--jhabua

भोपाल।

लोकसभा चुनाव के बाद विकासकार्यों ने रफ्तार पकड़ ली है।भवनों के लोकार्पण और उद्घाटन का सिलसिला फिर से शुरु हो गया है। इसी कड़ी में  मुख्यमंत्री कमलनाथ सोमवार को 12 करोड़ रुपए की लागत से बनकर तैयार हुए शासकीय मॉडल कॉलेज का लोकार्पण करने झाबुआ जाएंगे। हैरानी की बात तो ये है कि इसमें अभी तक किसी भी प्रोफेसर की पोस्टिंग नही हुई है।जबकी एक जुलाई से कॉलेज शुरु किया जाना है।अब  ये देखना रोचक होगा कि बिना स्टाफ के कॉलेज का मुख्यमंत्री और उच्च शिक्षा मंत्री लोकार्पण करेंगे। 

दरअसल, बीते साल इस कॉलेज के लिए शासन ने प्राध्यापकों सहित स्टाफ के 73 पद स्वीकृत किए थे, इसमें से 48 शैक्षणिक और 25 दूसरे कार्यों के लिए है। लेकिन अबतक किसी की भी पोस्टिंग नही हुई है। वही एक जुलाई से कक्षाएं शुरू की जाना है, पहले साल के लिए 1080 सीट रखी गई है। एडमिशन के काम की जिम्मेदारी शहीद चंद्रशेखर आजाद कॉलेज के स्टाफ को दी गई है, ऐसे में इस कॉलेज के प्राचार्य एचएल अनिजवाल का कहना है कि उनके पास के सिर्फ लोकार्पण के निर्देश आए है, आगे जो भी शासन से निर्देश मिलेंगें उस पर काम करेंगें।  इसके अलावा यहां  कन्यादान योजना के तहत सामूहिक विवाह कार्यक्रम, उत्कृष्ट स्कूल पर स्कूल चलो अभियान के तहत 700 बच्चों को साइकिल वितरण का कार्यक्रम रखा गया है।

बता दे कि 2015  में पूरे प्रदेश में ऐसे केवल 5 कॉलेज ही मंजूर किए गए थे, जिनमें से झाबुआ का एक था। हर कॉलेज के लिए रूसा (राष्ट्रीय उच्चतर शिक्षा अभियान) के तहत 12-12 करोड़ रुपए वर्ष 2015 में स्वीकृत किए गए थे। संभाग में झाबुआ पहला है, जहां इस तरह का कॉलेज मंजूर होकर बन गया है। शुरुआत में कला, वाणिज्य और विज्ञान तीनों संकाय में स्नातक कक्षाएं चालू होंगी। स्नातक कला संकाय में हिंदी, अंग्रेजी, राजनीति शास्त्र, इतिहास, समाज शास्त्र, अर्थशास्त्र, भूगोल, विषय, स्नातक विज्ञान संकाय में भौतिकी, रसायन, गणित, वनस्पति शास्त्र, प्राणी शास्त्र, सांख्यिकी, भू-गर्भ शास्त्र विषय और स्नातक वाणिज्य संकाय में वाणिज्य विषय शामिल किया गया है।