भ्रष्टाचार की नहर फूटी, खेत बने तालाब, फसल बर्बाद

mahi-project-Canal-crack-in-jhabua--water-in-fields-

झाबुआ| मध्य प्रदेश में भ्रष्टाचार का बोलबाला है, इसका ताजा उदाहरण एक बार फिर सामने आया है| झाबुआ जिले में माही नहर निर्माण में हुए भ्रष्टाचार की पोल खोल गई है| आधी रात को एक नहर फूट गई जिसमें से निकले पानी ने किसानों के खेतों को तबाह कर दिया। जिन खेतों में किसानों की उम्मीदें पल रही थी वह खेत अब तालाब में तब्दील हो गए हैं| 

दरअसल, बीती रात माही परियोजना की एक नहर फुट गई, जिससे नहर का पानी किसानों के खेतों में घुस गया और खेत तालाब में तब्दील हो गए| यह घटना बीती रात बावड़ी गांव के समीप हुई। पेटलावद ब्लॉक के करडावद-केसरपुरा ग्राम सबसे ज्यादा प्रभावित हुए हैं। सबसे ज्यादा प्रभावित किसान अंबाराम माल हुऐ है जिनके 5 बीघे के खेत मे पानी घुस गया ओर देखते ही देखते उनके खेत तालाब मे तब्दील हो गये । 

इलाके के किसानों का कहना है कि घटिया निर्माण के चलते नहर पानी का दबाव नही सह पायेगी यह आशंका उन्होंने परियोजना से जुडे अधिकारियों को पहले ही जता दी थी लेकिन अधिकारियो ने उनकी आशंका को हल्के मे लिया ओर यह हालात बने | किसानो के खेतों में खड़ी फसल बर्बाद हुई है, किसानों का कहना है कि घटिया निर्माण की सूचना कई बार दी गई, आखिरकार भ्रष्टाचार की पोल खुल गई| 

भ्रष्टाचार की नहर फूटी, खेत बने तालाब, फसल बर्बाद

भ्रष्टाचार की नहर फूटी, खेत बने तालाब, फसल बर्बाद