सांसद गुमान सिंह ने 23 लाख 40 हजार की लागत के तीन आंगनवाड़ी केन्द्रों का किया लोकार्पण

झाबुआ,विजय शर्मा। सांसद गुमानसिंह डामोर ने प्रधानमंत्री के जन्म दिवस के अवसर पर गरीब कल्याण सप्ताह के अवसर पर जिले के नए जिला पंचायत सभा कक्ष में आयोजित पोषण त्योहार कार्यक्रम का मां सरस्वती का पूजन करन शुभारम्भ किया। सांसद डामोर ने इस अवसर पर ग्राम पंचायत पिटोल बड़ी के अवार फलिया, कसार बड़ी के उण्डवा फलिया तथा बिजलपुर में नव निर्मित आंगनवाड़ी केन्द्र भवनों का लोकार्पण किया।

इन आंगनवाडी केन्द्रों पर 23 लाख 40 हजार रूपये की लागत आई है। सांसद डामोर ने इस कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि महिलाओं की स्थिति में सुधार लाने के लिए गर्भवती बहनों का विशेष ध्यान रखने की आवश्यकता है। उनका सुरक्षित प्रसव करवाएं और प्रथम छः माह तक बच्चों की अच्छी देख भाल करेगें तो हमारे देश का भविष्य बहुत उज्जवल होगा। जिससे एक ऐसे भारत का निर्माण होगा और देश को परम वैभव की और ले जाएगा। सांसद डामोर ने कहा कि मैं लम्बे समय से पढ़ और देख रहा हूं कि विशेषकर हमारे अनुसूचित जनजाति बाहुल्य जिले है, वहां पर शिशु मृत्यु दर तथा मातृत्व मृत्यु दर का प्रतिशत सर्वाधिक है। झाबुआ जिला भी इस स्थिति से अपवाद नहीं है। बेटियों और बहनों में खुन की कमी का प्रतिशत लगभग 45 है और बच्चों का जन्म का प्रतिशत लगभग 48 है। इसका ईमानदारी से सर्वे किया जाए तो यह प्रतिशत इससे अधिक ही होगा। हम सब का यह कर्तव्य है कि देश को मजबूत बनाए। यहां का हर बच्चा एक अच्छा नागरिक बने। इसके लिये हम सब को इनकी देख भाल करना होगी।

सांसद डामोर ने प्रशंसा व्यक्त करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का 70 वां जन्म दिवस है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस अवसर पर पोषण अभियान शुरू किया गया है। यह समाज में एक अच्छा संदेश देने की कोशिश की है कि हम देश के प्रधानमंत्री के साथ कदम से कदम मिलाकर चल रहे हैं और एक मजबूत भारत का निर्माण करेंगे। मजबूत भारत ही आत्मनिर्भर भारत बनेगा। उन्हांंने महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारियों, कर्मचारियों से अपेक्षा की है कि वे भारत सरकार और मध्य प्रदेश शासन की भावनाओं के अनुरूप गर्भवती महिलाओं, नवजात शिशुओं, कुपोषित बच्चों की देख भाल का दायित्व निभाएं। इसमें महिला एवं बाल विकास विभाग तथा स्वास्थ्य विभाग के समन्वय से ही ग्राम स्तर तथा ग्राम पंचायत स्तर पर अच्छा समन्वय हो सकेगा और अपेक्षा अनुरूप लक्ष्य को पूर्ण करने में मदद मिलेगी। उन्होंने भरोसा दिलाया कि बच्चों में कुपोषण और एनीमिया मिटाने में भी यदि जनप्रतिनिधियों के सहयोग की आवश्यकता पडी तो इसके लिये पूरा प्रयास किया जावेगा। उन्होंने इच्छा व्यक्त करते हुए कहा कि प्रदेश में कुपोषण तथा एनीमिया मिटाने वाले प्रथम पांच जिलों में झाबुआ जिला सम्मिलित हो। सांसद डामोर ने पोषण अभियान अंतर्गत ग्राम समेकित स्वास्थ्य एवं पोषण कार्य योजना पुस्तक का विमोचन किया। सांसद डामोर ने लाडली लक्ष्मी योजना के 10 हितग्राहियों को 11 लाख 80 हजार रूपये की राशि के प्रमाण पत्र प्रदान किये और बच्चों को दुग्ध भी पिलाया।

कार्यक्रम के प्रारम्भ में सहायक संचालक बालुसिंह सस्तिया ने स्वागत भाषण दिया तथा कार्यक्रम की रूपरेखा प्रस्तुत की। इस कार्यक्रम में कलेक्टर रोहित सिंह, भाजपा जिलाध्यक्ष लक्ष्मणसिंह नायक, पूर्व भाजपा जिलाध्यक्ष ओम प्रकाश शर्मा, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व एम.एल. मालवीय, उप संचालक कृषि एन.एस.रावत, जिला महिला एवं बाल विकास अधिकारी अजय चौहान मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here