झाबुआ: भाजयुमो प्रदेश उपाध्यक्ष गिरफ्तार, कार्यकर्ताओं पर शराब और पैसे बांटने का आरोप

झाबुआ।

पुलिस ने BJYM के नेता गौरव रणदिवे समेत कई कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया है।इन्हे आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन का मामले में गिरफ्तार किया गया है। आरोप है कि भाजयुमो के कार्यकर्ताओं को शराब और पैसे बांटने के आरोपों पर पुलिस ने गिरफ्तार किया है।पुलिस ने  रानापुर क्षेत्र में कुछ स्थानों से पुलिस ने शराब भी बरामद की।वही गौरव रणदीवे का कहना है कि मैं छोटा उदयपुर होते हुए आलीराजपुर के रास्ते से राणापुर से आगे राठौर ढाबे पर चाय पीने रुका था। कांग्रेस की विधायक कलावती भूरिया, कैलाश डामोर व कुछ अन्य लोगों ने आकर जबरदस्ती रोका और पुलिस को बुला लिया।

दरअसल, झाबुआ उपचुनाव से एक दिन पहले रविवार को पुलिस प्रशासन मुस्तैद नजर आया। गड़बड़ियों को भापते हुए कई लोगों पर कार्रवाई की गई। जहां रविवार शाम अंतरवेलिया क्षेत्र से इंदौर 02 के विधायक व भाजपा नेता रमेश मेंदोला को  झाबुआ विधानसभा क्षेत्र में घूमते पाए जाने पर पुलिस ने गिरफ्तार किया गया वही आचार संहिता के उल्लंघन के मामले में भाजयुमो प्रदेश उपाध्यक्ष गौरव रणदिवे को रानापुर क्षेत्र से पुलिस ने पकड़ा और थाने ले आई।सुत्रों की माने तो भाजयुमो के कार्यकर्ताओं को शराब और पैसे बांटने के आरोपों पर पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

भाजयुमो प्रदेश उपाध्यक्ष गौरव रणदीवे को वाहन (एमपी 09 एनजेड 0011) में झाबुआ-राणापुर रोड पर घूमते हुए हिरासत में लिया। उनसे राणापुर थाने में एडिशनल एसपी विजय डावर ने पूछताछ की। इस दौरान भाजपा नेता मनोहर सेठिया व अन्य पदाधिकारी थाने पहुंच गए। दोनों नेताओं के वाहनों की जांच की गई, लेकिन अन्य कोई सामान नहीं मिला। खबर है कि भाजपा नेता के खिलाफ आचार संहिता उल्लंघन (धारा 188 और 171 च) के तहत केस दर्ज भी किया गया है।

इस पूरे घटनाक्रम पर मध्यप्रदेश कांग्रेस की मीडिया विभाग की अध्यक्ष शोभा ओझा ने बयान जारी कर कहा कि भाजपा द्वारा आदर्श चुनाव आचार संहिता का खुलेआम उल्लंघन किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि भाजपा अपनी हार को भांप कर साम-दाम-दंड-भेद के माध्यम से इस चुनाव को जीतने की नाकाम कोशिशें कर रही है। रमेश मेंदोला के साथ ही भाजपा नेता गौरव रणदिवे और मनोहर सेठिया की गिरफ्तारी यह सिद्ध करती है कि भाजपा पैसे और शराब का प्रलोभन दे रही है, भाजपा के पास उपलब्धियों के नाम पर बताने को कुछ नहीं है और वह कांग्रेस सरकार के द्वारा पिछले नौ महीनों में किए गए कार्यों के विरुद्ध जनता के बीच कोई ठोस दुष्प्रचार नहीं कर पा रही है, इसलिए वह इस चुनाव में पिछले 15 वर्षों में कमाए गए भ्रष्टाचार के धन से जनता को प्रलोभन देने का हर संभव प्रयास कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here