झाबुआ में आतंक का पर्याय डाकू रागू सिंह की मौत, भाइयों ने ही किया हमला

झाबुआ, डेस्क रिपोर्ट। झाबुआ में सालों से आतंक का पर्याय बने डाकू रागू सिंह की मौत  गई है। रागू सिंह पर उन्हीं के भाइयों ने हमला किया था जिसके बाद उसे गंभीर हालत में गुजरात के दाहोद रेफर किया गया। वहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। झाबुआ जिला चिकित्सालय ने इसकी पुष्टि की है।

MP : पंचायत सचिव समेत 2 निलंबित, 10 अधिकारी-कर्मचारियों को नोटिस, वेतन काटा

झाबुआ थाने के पारी कस्बे में आपराधिक सरगना डाकू रागू सिंह पर उसके दो भाइयों ने साथियों के साथ मिलकर हमला किया। इस मामले में दोनों भाई गिरफ्तार कर लिए गए हैं। रागू सिंह पर लूट, डकैती अपहरण, जमीन हथियाने सहित 27 से अधिक मामले दर्ज है। 10 साल के सजायाफ्ता अपराधी रागू सिंह 20 साल से अधिक समय से अपराधों में लिप्त था। जमीनी विवाद में भाईयों के बीच आपसी विवाद चल रहा था और इसी के चलते उसपर हमला किया गया। करीब 4-6 लोगों ने उसपर हमला किया। फिलहाल पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है और बाकी आरोपियों की तलाश की जा रही है।