किसान सम्मान निधि का पैसा वापस मांगने पर कमलनाथ का तंज, कहा- शिवराज सरकार अजब है – ग़ज़ब है

भोपाल,डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार (Shivraj Government) ने प्रदेश के 2 लाख किसानों को किसान सम्मान निधि (kisan samman nidhi) की राशि का लाभ दिया था। लेकिन अब उन्हीं किसानों से पैसे वापस लिए जा रहे है। हजारों किसानों को राज्य सरकार (State Government) द्वारा नोटिस (Notice) जारी किया गया है, जिसमें किसान सम्मान निधि की राशि वापस करने की मांग की गई है। किसान से किसान सम्मान निधि वापस लेने को लेकर कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष और मध्यप्रदेश के पूर्व सीएम कमलनाथ (Kamal Nath) ने शिवाराज सरकार को घेरा है और किसान का अपमान करने का आरोप लगाया है।

कमलनाथ (Kamal Nath) ने ट्विटर (Twitter) के जरिए किसान सम्मान निधि का पैसा वापस मांगने को लेकर शिवराज सरकार पर तंज कसते हुए लिखा कि शिवराज सरकार अजब है – ग़ज़ब है ? प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के तहत चुनावों को देखते हुए पहले खाते में किश्त की राशि डाली फिर नोटिस भेजकर सम्मान निधि वापस माँगकर किसान भाइयों का किया जा रहा घोर अपमान ?

 

कमलनाथ आगे लिखते है कि कुछ को तो जितनी राशि दी नहीं , उससे ज़्यादा वापसी का नोटिस , कुछ को झूठा आयकर दाता , कुछ को अपात्र बताकर राशि वापसी के नोटिस ? किसानों का अपमान करना , दमन करना इनकी आदत बन चुका है।

 

वहीं इस पूरे मामले को लेकर कांग्रेस मीडिया विभाग के उपाध्यक्ष भूपेंद्र गुप्ता का कहना है कि किसानों को नोटिस देकर उनका अपमान किया जा रहा है। किसान सम्मान निधि में घोटाला किया गया है जो किसान नहीं है उन्हें राशि दे दी गई और अब उन्हें नोटिस भेजकर वापस मांग रहे हैं।

दरअसल शिवराज सरकार ने हजारों किसानों को किसान सम्मान निधि की राशि वापस लौटाने के लिए नोटिस भेजा है। शासन की ओर से भेजे गए नोटिस में कहा गया है कि वह किसान सम्मान निधि के पात्र नहीं है, जिस वजह से उन्हें राशि वापस लौटानी होगी। नोटिस में बताया गया कि इनमें से कई किसान आयकर दाता है और इस हिसाब से वह किसान सम्मान निधि के पात्र नहीं माने जाएंगे।

ये भी पढ़े- बड़ा झटका- शिवराज सरकार ने किसानों को भेजा नोटिस, यह है मामला

वहीं दूसरी तरफ किसानों का कहना है कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (Pradhan Mantri kisan Samman Nidhi) के तहत उन्हें आज तक 8 हजार रुपए  ही मिले हैं, जिसका उनके पास प्रमाण भी है। लेकिन राज्य सरकार द्वारा जो नोटिस भेजा गया है उसमें  10 हजार रुपए वापस करने की मांग की जा रही है। बताया जा रहा है कि जो पैसा किसानों को सम्मान निधि के तहत शिवराज सरकार द्वारा भेजा गया था उसकी अब जांच कराई जा रही है, जिसमें किसान बड़ी संख्या में अपात्र पाए गए हैं। अपात्र पाए गए किसानों को नोटिस भेजकर उनसे सम्मान निधि का पैसा वापस लिया जा रहा है।

ये भी पढ़े- PM मोदी ने दिया किसानों को क्रिसमस का तोहफा, CM शिवराज ने की बड़ी घोषणा

गौरतलब है कि आज अटल जयंती (Atal Jayanti) के मौके पर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने 12 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए किसानों को किसान सम्मान निधि की पांचवी किस्त सिंगल क्लिक के माध्यम से जारी की। इसी दौरान पीएम मोदी ने कहा कि आज देश के लगभग 9 करोड़ से ज्यादा किसानों के बैंक खाते में एक क्लिक पर 18 हजार करोड़ रुपए जमा किए गए है। जब से किसान सम्मान निधि योजना शुरु हुई है तब से लेकर अब तक 1 लाख 10 हजार करोड़ से अधिक राशि किसानों के खाते में सीधे पहुंचे है।