पुलिस थाने में युवक ने लगाई फांसी, ज्यूडिशियल जांच के आदेश

boy-commit-suicide-in-katni-police-station

कटनी। वंदना तिवारी।

विजयराघवगढ़ थाने के अंदर एक युवक ने फांसी लगा ली। युवक को धारा 302 के तहत हत्या के आरोप में पुलिस हिरासत में लिया गया था। आरोपी रामकिशोर 24 वर्ष ग्राम उबरा थाना बरही का निवासी है। करीब 20 दिन पहले ग्राम में हुए एक युवती हत्या के मामले में विजयराघवगढ़ पुलिस ने रामकिशोर को हिरासत में लिया था। पुलिस हिरासत में युवक द्वारा फांसी लगाए जाने के बाद से पुलिस और प्रशासन में हड़कंप मच गया। रविवार सुबह तहसीलदार थाना पहुंच पूरे मामले की जांच की। एडिशनल एसपी विवेक कुमार लाल भी कटनी जिला मुख्यालय से विजयराघवगढ़ पहुंच गए हैं। उन्होंने मीडिया को बताया कि युवक ने कंबल को फाड़कर रस्सी बनाया और फांसी लगा ली। पूरे मामले की जांच चल रही है। बताया जा रहा है कि युवक ने शौचालय में फांसी लगाई है। मृतक के शव को पीएम के लिए भेज दिया गया है, पूरे मामले की न्यायिक मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दिए गए हैं।

यह था मामला

कुछ ही दिनों पहले विजयराघवगढ़ थाना क्षेत्र में युवती की हुई हत्या के मामले में आरोपी था। विजयराघवगढ़ थाना प्रभारी राजेश तिवारी ने बताया कि रामकिशोर उर्फ अभिषेक गोड़ 24 साल ने थाना क्षेत्र की एक युवती का अपहरण कर लिया था। परिजनों की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी की तलाश की। लगभग सवा साल के बाद उसे जबलपुर के पास से पकड़ा था। पीडि़ता व परिजनों की शिकायत पर आरोपी के विरुद्ध 376, 363 का मुकदमा पंजीबद्ध किया गया था। 30 अगस्त को आरेापी जेल चला गया था। नवंबर माह में जमानत पर रिहा हुआ। इसके बाद वह लड़की से मोबाइल में समझौता आदि के लिए दबाव बनाता रहता था। युवती की हत्या के दिन व उसी समय वह वहां पर देखा गया है और मोबाइल की भी लोकेशन मिली है। पुलिस ने बताया कि आरोपी जेल में हत्या की साजिश रची और जमानत पर रिहा होने के बाद रंजिश के चलते हत्या की वारदात को अंजाम देने के बाद फरार हो गया था। शनिवार को पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार किया था।

इस कारण की हत्या

आरोपी अभिषेक उर्फ रामकिशोर गौड़ व मृतिका के बीच प्रेमसंबंध थे आरोपी के नाबालिग रहते उसे भगा कर भी ले गया था। रामकिशोर के साथ भागी गांव लौटकर वापस आई और उसने अपहरण व बलात्कार का मामला दर्ज करा दिया। जिसके बाद रामकिशोर मामले में गिरफ्तार हुआ और जेल भी गया। आरोपी रामकिशोर जमानत पर जेल से रिहा हुआ और वह शादी करने व मामले में समझौता करने का दबाव बनाने लगा। इस दौरान वह युवती से मोबाइल पर संपर्क करते हुए उसे परेशान करने लगा। घटना वाले दिन जब उसे पता चला कि शारदा माता मंदिर दर्शन करने गई है तो वह बीच रास्ते में उसके मंदिर से लौटने का इंतजार करने लगा। युवती लौटी तो वह उसे लेकर राहर के खेत में गया और वहां एक बार फिर साथ में भाग कर शादी करने का दबाव बनाने लगा। जिसका युवती ने विरोध किया तो उसने गला घोंटकर नेहा की हत्या कर दी और लाश वहीं छोड़कर भाग खड़ा हुआ।

इनका कहना है

हत्या के आरोप में आरोपी को गिरफ्तार कर हिरसात में रखा गया था। रात में उसने कंबल के सहारे फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। पूरे मामले की जांच हो रही है। मामले में मजिस्ट्रेट भी जांच कर रहे हैं। जांच में दोषियों के खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।

विवेक कुमार लाल, एएसपी।