कटनी के वेयर हाउस से खराब चावलों की सप्लाई की शिकायत, भोपाल से जांच टीम पहुंची

कटनी, अभिषेक दुबे। नागरिक आपूर्ति निगम भोपाल की टीम कटनी पहुँचकर वेयर हॉउस में चावलों के सैंपल लिए। कटनी के वेयर हॉउस के माध्यम से अन्य जिलों में चावलों की आपूर्ति की जा रही, जिसकी गुणवत्ता पर लगातार सवाल उठ रहे थे। नागरिक आपूर्ति निगम महाप्रबंधक सहित अन्य सदस्यों ने भी इसे लेकर पूछताछ की।

टाउन एंड कंट्री प्लानिंग के अधिकारी के घर EOW का छापा, कार्रवाई जारी

भोपाल से आई टीम का कहना है कि कटनी वेयर हॉउस से जो चावल सप्लाई अन्य जिलों में हो रही है उनकी लगातार खराब क्वॉलिटी और अमानक स्तर के होने की बात सामने आ रही थी। जिस पर आज पिपरौंध में भाजपा पूर्व जिलाध्यक्ष चमन लाल आनन्द के वेयर हाउस सहित अन्य वेयर हाउस, लमतरा से साँवरिया व ओम वेयर हाउस और चाका क्षेत्र के वेयर हॉउस से चावलों के सैंपल लिए गए हैं, जिनकी लेबोरेट्री में जांच की जाएगी और रिपोर्ट आने पर अग्रिम कार्रवाई होगी।

नागरिक आपूर्ति निगम कटनी के कर्मचारियों संग भोपाल की टीम ने मिलकर दबिश दी ओर सैंपल लिए। इनका कहना है कि आगे भी अन्य क्षेत्रों से सैंपल लेने की कार्रवाई जारी रहेगी। इस मामले में कटनी राइस मिलर एसोसिएशन का कहना है कि जिस किस्म के धान समस्त मिलर्स को दिए जा रहे है, उससे बेहतर किस्म के चावलों के मिलिंग की उम्मीद करना व्यर्थ है। इनका कहना है कि हम सभी मिलर्स को ओपन वेयर हाउस में रखे धान जो सड़ जाते हैं, खराब होकर उनके बारदाने तक गले हुए होते है और गीली जमीन पर रखे धान से बीज अंकुरित हो जाते है। कई बार धान टूट जाते हैं, भसक जाते हैं, फिर ऐसे धान से अच्छी किस्म के चावल की मिलिंग मिलर्स कैसे करें। मिलर्स ने नागरिक आपूर्ति विभाग के सभी आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि जिन कर्मचारियों ने खराब धान सप्लाई कर हम मिलर्स को दिए और जिनपर देखरेख की जिम्मेदारी रहती है, उनपर एक्शन लिया जाना चाहिए।  मिलर्स का कहना है कि भोपाल से आई टीम जाँच विभाग को उन धान के सैंपल लेना चाहिए जो खुले आसमान के नीचे रखे हैं और उनकी जांच करवानी चाहिए।

नागरिक आपूर्ति निगम विभाग द्वारा जारी जाँच पर गुस्साए मिलर्स एसोसिएशन अपने बचाव में खराब धान मिलने की कह रहे हैं। उनका कहना है कि प्रशासन दबाव बनाकर काम करवाना चाहता है इसलिए ये कार्रवाई की गई है। वही विभाग के अधिकारियों का कहना है कि विभाग को आदेश मिला है कि कटनी से जो चावलों का खेप आई है वो खराब है और रिजेक्ट हुए हैं जिससे वितरण व्यवस्था प्रभावित हुई है, इसलिए जाँच की जा रही है।