कटनी का हुआ विस्तार, अब नगर निगम में वार्डों की संख्या होगी 60

Extension-of-Katni

कटनी। वंदना तिवारी।

नगर निगम कटनी में भौगोलिक रूप से कई परिवर्तन किए जा रहे हैं। यहां के क्षेत्र का विस्तार करते हुए 45 की बजाय 60 वार्ड बना दिए जाएंगे। कटनी नगर निगम सीमा क्षेत्र में 10 गांवो को शामिल किए जाने से वार्डों की संख्या बढ़कर 60 हो जाएगी। राज्य सरकार से नगर निगम क्षेत्र के सीमावृद्घि प्रस्ताव को मंजूरी मिल गई है। यह महत्वपूर्ण सूचना राजपत्र में प्रकाशित भी हो गई है। 

आचार संहिता में थमा था काम

कटनी जिला कलेक्टर ने नगर निगम में सीमा वृद्धि का प्रस्ताव परीक्षण करने के बाद राज्यशासन के पास भेजा था। लेकिन लोकसभा चुनाव के समय लागू आचार सहिंता के कारण राज्य शासन से मंजूरी नहीं सकी थी। इस वजह से इस प्रक्रिया चुनाव के बाद फिर से शुरू किया गया।

चुनाव से पहले होगा परिवर्तन

इस वर्ष के अंत तक कटनी नगर निगम में कई परिवर्तन हो जाएंगे। नगर निगम चुनाव भी इसी साल के अंत में होना है। इसको लेकर सीमावृद्घि एवं परिसीमन प्रस्तावों का निराकरण तेजी के सा��� है। उल्लेखनीय है कि शहरी सीमा से सटे गांवों को शहरी निवेश क्षेत्र का दर्जा हासिल होता है। अब नगरीय सीमा में शामिल होने के बाद इन ग्रामों में मूलभूत सुविधाएं भी मिलेंगी। 

ये गांव होंगे शामिल

नगर निगम की सीमा में चाका, लमतरा, घटखिरबा, कैलवाराखुर्द, टिकरिया, जुहला, मझगवां फाटक, हिरवारा, देवरी, कछगवां, इमलिया, गुलवारा, पिपरिया, गाताखेड़ा और छहरी शामिल होंगे।

इन इलाकों को मिलाकर बनेंगे नए वार्ड  

सीमा क्षेत्र में नए गांव जुड़ जाने से वार्डों की संख्या 45 की जगह 60 हो जाएगी। नए ग्राम शामिल होने के बाद नगर निगम सीमा क्षेत्र का भौगोलिक नक्शा बदल जाएगा। अब उत्तर में ग्राम खड़ौला, पूर्व में ग्राम पौंड़ी, दक्षिण में पिपरौंध व पश्चिम में ग्राम भरवारा तक नगर निगम की सीमा होगी।

बदलेंगे राजनैतिक दृष्टिकोण

वार्डों की संख्या बढ़ने से महापौर चुनाव का क्षेत्र भी 60 वार्डों का हो जाएगा। राजनैतिक दलों ने आगमी चुनाव को देखते हुए अभी से तैयारियां शुरू कर दी हैं। जिन क्षेत्रों को नगर निगम सीमा में मिलाया जा रहा है वहां भी पार्टी के लोग पार्षद चुनाव के लिए सक्रिय हो गए हैं।