former-mla-resign-from-bjp-in-katni

कटनी। वंदना तिवारी।

लोकसभा चुनाव से पहले नेताओं  की घर वापसी का सिलसिला जारी है। गुरूवार को एक बार फिर बीजेपी को तगड़ा झटका लगा है। पूर्व विधायक निशिथ पटेल ने बीजेपी से इस्तीफा दे दिया है। वह वापस कांग्रेस का दामन थाम सकते हैं। उनके पार्टी छोड़ने से स्थानीय संगठन को झटका लगा है। उन्होंने इस्तीफा बीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को भेज दिया है। जिसकी कॉपी सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रही है। 

दरअसल, 2014 में कटनी के उप चुनाव में कांग्रेस ने पटेल को टिकट नहीं दिया था। इस वजह से खफा होकर वह बीजेपी में शामिल हो गए थे। कटनी की बोहरीबंद विधानसभा से पटेल दो बार विधायक रहे हैं। 2014 में बीजेपी ने उप चुनाव में सौरभ सिंह को विधायक का टिकट दिए था। उन्होंने अपने इस्तीफे में पार्टी की नीतियों को जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंंने लिखा है कि बीजेपी की कार्यप्रणाली एवं नीतियों से क्षुब्ध होकर प्रदेश कार्यसमिति की सदस्यता से इस्तीफा देते हैं। लोकसभा चुनाव के लिए उनका नाम खजुराहो संसदीय सीट पर चला था और पैनल में भी नाम था, किंतु ऐन वक्त पर वहां पर बाहरी प्रत्याशी वीडी शर्मा को टिकट दे दिया गया, जिसका जबर्दस्त विरोध संसदीय क्षेत्र में किया गया। यही कारण है कि भाजपा से काफी लोग नाराज थे, जिसमें श्री पटेल भी शामिल रहे। सूत्रों के मुताबिक निशिथ पटेल द्वारा भाजपा के सभी पदों से इस्तीफा देने के बाद शीघ्र ही कांग्रेस में शामिल होने की प्रबल संभावना है। 

गौरतलब हैइसके पहले पटेल को कांग्रेस के प्रदेश अध्‍यक्ष अरुण यादव ने निलंबित कर दिया था। वे दिग्विजय सिंह सरकार में मंत्री रहे श्रवण कुमार पटेल के बेटे हैं। 2013 विधानसभा चुनाव में वे बहोरीबंद से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़े थे लेकिन भाजपा के प्रभात पांडे से हार गए। इस हार के बाद उन्‍होंने क्षेत्र के कुछ कांग्रेसियों पर ही हरवाने का आरोप लगाया था।