Katni News: रेलवे ट्रैक पर लेटकर युवक ने की आत्महत्या की कोशिश, जीआरपी जवान ने बचाई जान, जानें पूरा मामला

Manisha Kumari Pandey
Published on -

Katni News: कटनी रेलवे स्टेशन में ट्रेन की पटरियों पर लेट कर एक युवक आत्महत्या का प्रयास करता नजर आया। हालांकि वहां तैनात एक जीआरपी के जवान ने उसकी जान बचा ली। रिपोर्ट के मुताबिक युवक पारिवारिक विवाद ने परेशान होकर खुदकुशी की कोशिश कर रहा था। वह पूरी तरीके से नशे में धूत था। इस बात की जानकारी मिलते ही स्टेशन पर तैनात जीआरपी पुलिस कर्मी ने लपक कर उसे रेल की पटरियों से उठा लिया और उसकी जान बचाई।


जीआरपी पुलिस कर्मी ने मीडियाकर्मियों को बताया कि, “कटनी जिले के ग्राम इमलिया रोड का निवासी सतीश यादव पारिवारिक विवाद के कारण परेशान था। जिसकी वजह से उसने पहले तो अधिक मात्रा में शराब का सेवन किया और उसके बाद नशे की हालत में वह आत्महत्या करने के इरादे से कटनी रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर.2 के रेलवे ट्रैक पर जाकर लेट गया।”

युवक को ऐसी हरकत करता देख वहां पर तैनात जीआरपी जवान ने उसे पटरियों से उठाकर सुरक्षित बाहर निकाला और थाने ले जाकर उसे समझाया। जिसके बाद युवक को अपनी गलती का एहसास हुआ। हालांकि इस घटना के कारण पूरे प्लेटफ़ॉर्म पर खलमली मच गई है।
कटनी से अभिषेक दुबे की रिपोर्ट


About Author
Manisha Kumari Pandey

Manisha Kumari Pandey

पत्रकारिता जनकल्याण का माध्यम है। एक पत्रकार का काम नई जानकारी को उजागर करना और उस जानकारी को एक संदर्भ में रखना है। ताकि उस जानकारी का इस्तेमाल मानव की स्थिति को सुधारने में हो सकें। देश और दुनिया धीरे–धीरे बदल रही है। आधुनिक जनसंपर्क का विस्तार भी हो रहा है। लेकिन एक पत्रकार का किरदार वैसा ही जैसे आजादी के पहले था। समाज के मुद्दों को समाज तक पहुंचाना। स्वयं के लाभ को न देख सेवा को प्राथमिकता देना यही पत्रकारिता है। अच्छी पत्रकारिता बेहतर दुनिया बनाने की क्षमता रखती है। इसलिए भारतीय संविधान में पत्रकारिता को चौथा स्तंभ बताया गया है। हेनरी ल्यूस ने कहा है, " प्रकाशन एक व्यवसाय है, लेकिन पत्रकारिता कभी व्यवसाय नहीं थी और आज भी नहीं है और न ही यह कोई पेशा है।" पत्रकारिता समाजसेवा है और मुझे गर्व है कि "मैं एक पत्रकार हूं।"

Other Latest News