कटनी, डेस्क रिपोर्ट। 2016 में आई फ़िल्म रुस्तम (rustom) विवादों में घिरती नजर आ रही है। फिल्म में मुख्य किरदार निभाने वाले अभिनेता अक्षय कुमार (akshay kumar), ज़ी इंटरटेनमेंट के सुभाष चंद्रा, फ़िल्म के निर्देशक टीनू सुरेश देसाई (director tinu suresh desai), लेखक विपुल के रावल, अनंग देसाई, कटनी (katni) स्थित सिटी प्राइड सिनेमा हॉल(city pride cinema hall), सिटी मॉल के मालिल सुरेश गुप्ता समेत अन्य लोगों को कटनी अदालत (katni court) ने नोटिस जारी किया है। फ़िल्म रुस्तम में एक दृश्य के दौरान वकीलों (lawyers) के लिए बेशर्म शब्द का इस्तेमाल किया गया है। नोटिस फरियादी मनोज गुप्ता ने इसी पर आपत्ति जताते हुए नोटिस जारी किया है।

बता दें कि फरियादी मनोज गुप्ता खुद भी पेशे से वकील है। उन्होंने फ़िल्म रुस्तम अपने साथी अंशु मिश्रा के साथ ही देखी थी। फ़िल्म के दौरान दिखाए गए एक दृश्य में अक्षय कुमार अनंग देवाई को तर्क देते हुए वकीलों के लिए बेशर्म शब्द का प्रयोग करते हैं।मनोज गुप्ता का कहना है कि बेशर्म शब्द किसी की नौकरी -पेशे की ख्याति को कम करने वाला शब्द है। वकील के लिए बेशर्म शब्द का प्रयोग करना सभी वकीलों की मानहानि है।इसी सिलसिले में उन्होंने अदालत से रुस्तम फ़िल्म से जुड़े कलाकारों और लोगों को दंड देने की याचिका दायर की है। याचिका के आधार पर अपर सत्र न्यायाधीश ने 10 मार्च 2021को इस मामले की सुनवाई रखी है। साथ ही उक्त सभी लोगों की पेशी के भी आर्डर दिए हैं।