प्रायवेट अस्पताल ने चिपकाया पर्चा ‘ऑक्सीजन नहीं है,’ प्रशासन का दावा- पर्याप्त ऑक्सीजन दी गई

ऑक्सीजन सप्लाई लिस्ट में है अस्पताल का नाम, मरीजों को नहीं मिली तो आखिर अस्पताल से ऑक्सीजन गई कहां

कटनी, अभिषेक दुबे। कोरोना (Corona) महामारी के बीच ऑक्सीजन (Oxygen) की कमी भी एक बड़ी समस्या का रूप ले चुकी है। कई अस्पतालों (Hospital) में ऑक्सीजन की कमी है और मरीजों के परिजन परेशान हैं। इस बीच कटनी के एक प्रायवेट अस्पताल ने ‘ऑक्सीजन उपलब्ध नहीं है’ का पर्चा चिपका दिया। डॉक्टरों का कहना है कि प्रशासन द्वारा उन्हें ऑक्सीजन सिलेंडर उपलब्ध नहीं हो पा रहा है लेकिन प्रशासन द्वारा कहा जा रहा है कि ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं है और संबंधित अस्पताल को जरूरत के मुताबिक ऑक्सीजन सप्लाई की जा रही है।

अब इस जिले में 10 मई तक बढ़ा कोरोना कर्फ्यू, कलेक्टर ने जारी किया आदेश

मामला कटनी के आदर्श कालोनी क्षेत्र के प्राइवेट अस्पताल श्रीराम मल्टी स्पेशलिटी  हॉस्पिटल का है। यहां अस्पताल प्रबंधन ने अपने गेट पर ‘ऑक्सीजन उपलब्ध नहीं है, मरीजों की भर्ती नहीं हो सकेगी’ का पर्चा चिपका दिया है। वहीं भर्ती मरीजों के परिजन ऑक्सीजन के लिए इधर-उधर भटक रहे हैं। अस्पताल के डॉक्टर गगन सोनी का कहना है कि प्रशासन हमे ऑक्सीजन उपलब्ध नहीं करा रहा है, हमने कई बार कलेक्टर से भी ऑक्सीजन मुहैया कराने का अनुरोध किया है। ऑक्सीजन की कमी के कारण ही हमें हॉस्पिटल के बाहर ये पर्चा चिपकाना पड़ा है।

प्रायवेट अस्पताल ने चिपकाया पर्चा 'ऑक्सीजन नहीं है,' प्रशासन का दावा- पर्याप्त ऑक्सीजन दी गई

वहीं बात जिला प्रशासन की जाए तो प्रशासन की द्वारा अधिकृत प्रतिदिन ऑक्सीजन देने की लिस्ट में श्रीराम मल्टी स्पेशलिटी हॉस्पिटल का नाम मौजूद है। इसके मुताबिक अस्पताल को पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन उपलब्ध कराई जा रही है और इसे लेकर हर रोज तहसीलदार  द्वारा लिस्ट जारी की जा रही है। जिला प्रशासन द्वारा शहर के अस्पतालों को ऑक्सीजन उपलब्ध हो इसके लिए नायब तहसीलदार रविंद्र पटेल की आक्सीजन प्लांट में ड्यूटी लगाई गई है। एमपी ब्रेकिंग न्यूज ने जब इस बारे में रविंद्र पटेल से बात की तो उन्होने कहा कि श्री राम हॉस्पिटल को पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन उपलब्ध कराई जा रही है और हम रोज का अपडेट जारी कर रहे हैं। बल्कि उन्होने तो ये भी कहा कि अगर और ऑक्सीजन की डिमांड करेंगे तो वो भी उपलब्ध कराई जाएगी। उन्होने कहा कि उसके बाद भी अगर हॉस्पिटल मरीजों को ऑक्सीजन नहीं दे रहा है तो ये बड़ी लापरवाही है। अस्पताल को मरीजों साथ ऐसा नही करना चाहिए।

हमने जब अस्पताल प्रबंधन से इस लिस्ट के बारे में पूछा तो उन्होने इसे लेकर अनभिज्ञता जाहिर कर दी। अब बात आती है कि जब अस्पताल को प्रशासन द्वारा ऑक्सीजन दी जा रही है और ऑक्सीजन मरीजों तक पहुंच क्यों नहीं रही है। आखिर ये ऑक्सीजन कहां जा रही है, इस सवाल का जवाब प्रशासन को अस्पताल प्रबंधन से मांगना चाहिए।